चीन में कोरोनावायरस के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 106 हुई, अब तक 4,500 से अधिक मामले सामने आए

बीजिंग,  चीन में कोरोनावायरस से 24 और लोगों की मौत हो गई और इसीके साथ इस विषाणु से मरने वालों की संख्या बढ़कर 106 हो गई है जबकि इससे संबंधित निमोनिया के अब तक 4,515 पुष्ट मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

तिब्बत को छोड़कर चीन के सभी प्रांतों से कोरोनावायरस के मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है।

चीन के अलावा, थाइलैंड में सात मामले, जापान में तीन, दक्षिण कोरिया में तीन, अमेरिका में तीन, वियतनाम में दो, सिंगापुर में चार, मलेशिया में तीन, नेपाल में एक, फ्रांस में तीन, ऑस्ट्रेलिया में चार और श्रीलंका में कोरोनावायरस का एक मामला सामने आया है।

चीन में कोरोनावायरस के कारण अब तक 106 लोगों की जान जा चुकी है और अब तक करीब 1,300 नए मामलों की पुष्टि हुई है।

इस संक्रमण के केंद्र मध्य हुबेई प्रांत के स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि विषाणु संक्रमण के कारण और 24 लोगों की मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि और 1,291 लोग इस संक्रमण से ग्रसित पाए गए हैं जिसके साथ ही देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या 4,000 से अधिक हो गई है।

हुबेई प्रांत के स्वास्थ्य आयोग ने मंगलावर को कहा कि सोमवार तक नए किस्म के निमोनिया (कोरोनावायरस) के हुबई प्रांत में कुल 4,515 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। 2,567 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, इनमें से 563 की हालत गंभीर है और 127 की हालत नाजुक बनी हुई है।

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार को बुखार से पीड़ित 31,934 मरीज अस्पतालों में आए हैं।

कोरोनावायरस के कारण सोमवार को बीजिंग और शंघाई में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई।

बीजिंग में जिस 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई है उसके संक्रमित होने के बारे में 22 जनवरी को पता चला था। वह आठ से 15 जनवरी के बीच वुहान शहर में था।

बीजिंग में सोमवार तक आठ नए मामले सामने आए जिसके साथ यहां संक्रमित कुल मामलों की संख्या 80 पर पहुंच गई।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सोमवार को यह स्वीकार किया कि चीन में इस घातक विषाणु के वैश्विक जोखिम का आकलन करने में उससे गलती हुई। उसने कहा कि जोखिम ‘मध्यम’ श्रेणी में नहीं बल्कि उच्च श्रेणी में है।