कोरोना वायरस से वैश्विक अर्थव्यवस्था को 2,000 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका : संरा

संयुक्त राष्ट्र,  संयुक्त राष्ट्र की व्यापार और विकास एजेंसी अंकटाड ने कहा है कि इस साल कोरोना वायरस के प्रकोप से वैश्विक अर्थव्यवस्था को 2,000 अरब डॉलर तक नुकसान हो सकता है। एजेंसी ने चेतावनी दी है कि महामारी से कुछ देशों में मंदी आ जाएगी और वैश्विक वृद्धि दर घटकर 2.5 प्रतिशत से कम रह जाएगी।

प्रारंभिक नकारात्मक परिदृश्य में वैश्विक अर्थव्यवस्था में 2,000 अरब डॉलर तक नुकसान की बात कही गई है।

संयुक्त राष्ट्र के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा गया, “इस साल कोरोना वायरस के प्रकोप से वैश्विक अर्थव्यवस्था को 2,000 अरब डॉलर का नुकसान हो सकता है। अंकटाड सरकारों से आह्वान करता है कि इसके आर्थिक प्रभाव को कम करने के लिए तत्काल उपाए करें।”

हालांकि, यदि हालत बद से बदतर नहीं हुए तो नुकसान थोड़ा कम रह सकता है। संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन (अंकटाड) के वैश्वीकरण तथा विकास रणनीति संभाग के निदेशक रिचर्ड कोजुल-राइट ने हालांकि कहा, “हम वैश्विक अर्थव्यवस्था में इस साल मंदी की परिकल्पना कर रहे हैं, और अनुमान है कि इससे 1,000 अरब डॉलर तक का नुकसान होगा।”

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी ने कहा कि कोरोना वायरस से फैली महामारी के दुखद मानवीय परिणामों के अलावा इससे आर्थिक अनिश्चितता भी फैल गई है।