कोरोना वायरस: चीन में मरने वालों की संख्या 2,943 तक पहुंची, दुनियाभर में बढ़ रहे मामले

बीजिंग, चीन में कोरोना वायरस के कारण 31 और लोगों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या 2,943 तक पहुंच गई। संक्रमण के 125 पुष्ट मामले सामने आए हैं, जो देश में कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू होने के बाद से सबसे कम हैं।

चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

चीन में प्रकोप भले ही कम हो रहा हो लेकिन इस घातक बीमारी ने दुनियाभर में तबाही मचा रखी है। अब तक दुनिया के विभिन्न हिस्सों में 3,000 से अधिक लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है और संक्रमण के 89,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को कहा कि सोमवार को देश में कोविड-19 के कारण 31 लोगों की मौत हो गई और 125 नए मामलों की पुष्टी हुई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक दुनिया के 67 देशों में कोविड-19 के कारण 3,056 लोगों की मौत हुई है और 89,527 मामलों की पुष्टि हुई है।

चीन में संक्रमण के पुष्ट मामलों के बारे में अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि जब कोरोना वायरस महामारी शुरू हुई थी तब से यह संख्या सबसे कम है। इससे इसका प्रकोप कम होने के आसार लग रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि जिन 31 लोगों की मौत हुई है, वे सभी हुबेई प्रांत और इसकी राजधानी वुहान के रहने वाले थे। 125 पुष्ट मामलों में से 114 हुबेई से हैं।

आयोग ने कहा कि सोमवार के अंत तक चीन मुख्यभूमि पर पुष्ट मामलों की संख्या 80,151 तक पहुंच गई। इनमें से 2,943 लोगों की मौत हो गई, 30,004 मरीजों का उपचार चल रहा है और 47,204 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि यह एक संक्रामक रोग है जो मानव के नए किस्म के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण फैला है और सही उपायों से इस पर काबू पाया जा सकता है।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेडरोस अधारोम घेब्रेयेसस ने सोमवार को कहा कि इस महामारी को जानना और समझना इसे हराने की दिशा में पहला कदम है। उन्होंने बताया कि यह संक्रमित व्यक्ति के बोलने, खांसने या छींकने से भी फैलता है।