कोरोना वायरस : अमेरिका के उपराष्ट्रपति भी कराएंगे जांच, ब्रिटेन में 15 लाख लोग खतरे में

वाशिंगटन,  कोरोना वायरस के आम लोगों के साथ-साथ दुनिया के तमाम खास लोगों को भी अपनी चपेट में लेने का सिलसिला रुक नहीं रहा है और अब अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने शनिवार को कहा कि वह तथा उनकी पत्नी कैरेन पेंस कोविड-19 की जांच कराएंगे।

पेंस की इस टिप्पणी से एक दिन पहले उनकी प्रवक्ता ने बताया कि उपराष्ट्रपति की टीम का एक सदस्य संक्रमित पाया गया है। हालांकि, संक्रमित व्यक्ति का पेंस या अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से कोई सीधा संपर्क नहीं रहा।

पेंस ने व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘व्हाइट हाउस के डॉक्टर का कहना है कि उन्हें नहीं लगता कि मैं संक्रमण की चपेट में आया होऊंगा और मुझे जांच की जरूरत नहीं है लेकिन उपराष्ट्रपति और व्हाइट हाउस कोरोना वायरस कार्य बल के नेता के तौर पर मैं और मेरी पत्नी दोनों आज दोपहर को कोरोना वायरस की जांच कराएंगे।’’

बहरहाल, संक्रमित व्यक्ति के नाम का खुलासा नहीं किया गया है। पेंस ने कहा कि वह अब ठीक है।

ट्रम्प ने भी पिछले हफ्ते कोरोना वायरस की जांच कराई थी और वह संक्रमित नहीं पाए गए थे।

कोरोना वायरस के मद्देनजर व्हाइट हाउस ने परिसर में प्रवेश करने वालों के लिए सख्त नियम बनाए हैं।

इस बीच, न्यूयॉर्क शहर की जेलों में कम से कम 38 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

शेरमन ने आगाह किया, ‘‘ऐसी आशंका है कि हाल के हफ्तों में ये लोग जेल में कई लोगों तथा कर्मचारियों के करीबी संपर्क में रहे होंगे।’’ उन्होंने संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई।

वहीं, अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने शनिवार को कोरोना वायरस की उस जांच को मंजूरी दी जिसके नतीजे 45 मिनट में ही मिल सकते हैं।

ऐसी जांच को मंजूरी देने से संक्रमित व्यक्ति की तेजी से पहचान होगी और उसका फौरन इलाज शुरू किया जा सकेगा तथा उसे पृथक किया जा सकेगा। कैलिफोर्निया स्थित सेफिड ने इस जांच पद्धति को विकसित किया है।

इस बीच, ब्रिटेन ने करीब 15 लाख लोगों की कोरोना वायरस महामारी के लिहाज से अधिक संवेदनशील होने की पहचान की है और उन्हें कम से कम 12 हफ्तों के लिए घरों में रहने को कहा है।

ब्रिटेन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने हडि्डयों या खून के कैंसर के मरीजों, फेफड़ों और पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचाने वाले सिस्टिक फाइब्रोसिस या अंग प्रतिरोपण कराने वाले मरीजों को घरों में रहने की सलाह दी है।

ब्रिटेन के सामुदायिक मंत्री रॉबर्ट जेनरिक ने एक बयान में कहा, ‘‘लोगों को घरों में रहना चाहिए।’’

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से 177 लोगों की मौत हो चुकी है।

चिली में 83 वर्षीय महिला की कोरोना वायरस से मौत हो गई है। यह देश में मौत का पहला मामला है।

चिली के स्वास्थ्य मंत्री जैम मनालिच ने बताया कि पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 103 नए मामले सामने आए हैं जिससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या 500 पर पहुंच गई है।

सरकार ने लोगों को घरों के भीतर रहने की सलाह दी है हालांकि पृथक करने संबंधी कोई कदम नहीं उठाए गए हैं।

गाजा में अधिकारियों ने संक्रमण के दो मामलों की रविवार को पुष्टि की। फलस्तीन के इन लोगों ने पाकिस्तान की यात्रा की थी और वापसी पर उन्हें पृथक कर दिया गया।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो नागरिकों में पाकिस्तान से लौटने के बाद कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है।’’

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अपने नागरिकों को रविवार को देश के भीतर किसी भी यात्रा को रद्द करने के लिए कहा।

मॉरिसन ने कहा कि सरकार गैर आवश्यक यात्रा से बचने की सलाह देती है। उन्होंने यह बात तब कही जब देश में कोरोना वायरस के मामले 1,000 तक पहुंच गए हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘और सख्त कदम उठाए जाएंगे।’’

रवांडा ने भी घर से बाहर अनावश्यक आवाजाही और सीमा पार यात्रा पर रोक लगा दी है।

सरकार ने शनिवार देर रात एक बयान में कहा, ‘‘अनावश्यक आवाजाही और घर से बाहर निकलने को अनुमति नहीं दी जाएगी।’’

बयान में कहा गया है कि सभी सीमाएं बंद हैं।केवल मालवाहक वाहनों और विदेशों से लौटने वाले रवांडा के नागरिकों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।

रवांडा में शनिवार को कोरोना वायरस के 17 मामले दर्ज किए गए जो पूर्वी अफ्रीकी क्षेत्र में सबसे अधिक संख्या है।

वहीं, बोलिविया के उच्च चुनाव अधिकरण ने शनिवार को घोषणा की कि वह कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण मई में होने वाले आम चुनाव अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर रहा है।

बोलिविया में कोरोना वायरस के 19 मामले सामने आए हैं।