अमेरिकी ने की भारतीय की हत्या, कहा ‘मेरे देश से निकल जाओ’

ह्यूस्टन:वाशिंगटन, कंसास शहर में एक अमेरिकी व्यक्ति ने भारतीय मूल के एक इंजीनियर की गोली मारकर हत्या कर दी और दो अन्य को घायल कर दिया। गोलियां चलाते समय आरोपी कथित तौर पर चिल्लाते हुए कह रहा था- ‘मेरे देश से निकल जाओ’। यह ‘संभवत: घृणा अपराध’ का मामला हो सकता है।

बुधवार रात को हुई एक झड़प के बाद 51 वर्षीय पूर्व नौसेनाकर्मी ने नस्ली हमले के तहत गोलियां चला दी थीं जिसमें श्रीनिवास कुचीभोटला :32: की मौत हो गई । श्रीनिवास ऑलेथ स्थित गार्मिन मुख्यालय में काम करता था । हमले में एक अन्य भारतीय एवं उसका सहकर्मी आलोक मदसाणी भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

गोलीबारी में घायल दूसरे व्यक्ति की पहचान अमेरिकी नागरिक ईआन ग्रीलट के तौर पर हुई है जो बीच बचाव करने आया था। घटना ऑलेथ के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल में हुई।

आरोपी एडम पुरिनतोन की कथित तौर पर पीड़ितों से नस्लीय मुद्दों पर बहस हो गई थी और वह उनपर गोलियां चलाने से पहले ‘मेरे देश से निकल जाओ’, ‘आंतकियों’ चिल्ला रहा था।

पुलिस के अनुसार पुरिनतोन बहस के बाद बार से चला गया था लेकिन फिर वह बंदूक लेकर वहां वापस आया और तीनों को गोली मार दी। बार के संरक्षक उस समय बॉस्केटबॉल मैच देख रहे थे।

आरोपी एडम पुरिनतोन :51: को घटना के पांच घंटे बाद गुरूवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया । उस पर हत्या और हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है।

प्राधिकारियों ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान घटना के घृणा अपराध होने या न होने के सवाल पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। हालांकि स्थनीय पुलिस एफबीआई के साथ मिलकर मामले की जांच कर रही है।

ऑलेथ के पुलिस प्रमुख स्टीवन मेन्के ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ यह हिंसा का एक दुखद कृत्य है। ’’