अमेरिका को लेकर हमारे सब्र का बांध टूट रहा है: उत्तर कोरिया

सियोल,  उत्तर कोरिया ने सोमवार को कहा कि अमेरिका की नीतियों और एकतरफा निरस्त्रीकरण की मांग को लेकर अब उसका धैर्य जवाब दे रहा है, और चेतावनी दी कि नेताओं के बीच सिर्फ निजी संबंध ही परमाणु कूटनीति को पटरी से उतरने से बचाने के लिए काफी नहीं है।

कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी में प्रसारित एक बयान में उत्तर कोरिया के वरिष्ठ अधिकारी किम योंग चोल ने कहा है कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच अच्छे संबंधों के बावजूद भी दोनों देशों के संबंधों में कुछ खास प्रगति नहीं हुई।

उन्होंने कहा कि लगातार तनाव और दुश्मनी बने रहने से ‘किसी भी वक्त लड़ाई छिड़ सकती है।’

अधिकारी ने कहा कि अमेरिका ‘अंतिम और पूर्ण रूप से सत्यापित निरस्त्रीकरण’ की मांग करके उत्तर कोरिया के सब्र की परीक्षा ले रहा है और अन्य देशों को संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंधों को मजबूत करने के लिए भी दबाव डाल रहा है।