अफीम तस्कर को 10 साल सश्रम कैद, एक लाख रुपये का जुर्माना लगा

मध्य प्रदेश:  मध्य प्रदेश के रतलाम में अफीम तस्करी के जुर्म में मंदसौर जिले के निवासी 30 वर्षीय एक व्यक्ति को एनडीपीएस अधिनियम के तहत दोषी करार देते हुए विशेष अदालत ने 10 साल की सश्रम कैद की सजा सुनायी और एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया।

उपसंचालक अभियोजन एस के जैन ने आज बताया कि एनडीपीएस अधिनियम के तहत कल विशेष न्यायाधीश बीएस ओहरिया ने अफीम तस्करी के जुर्म में मंदसौर जिले के ग्राम रिण्डा निवासी मांगूसिंह :30: को दोषी करार देते हुए उसे अधिनियम की धारा आठ सहपठित धारा 18 ख के तहत 10 साल की सश्रम कैद की सजा सुनायी और एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया।

उन्होंने बताया कि जुर्माना अदा नहीं करने पर मांगूसिंह को छह महीने की अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी पड़ेगी।

जैन ने बताया कि 25 मई 2010 को रात 11 बजे के बाद रतलाम की स्टेशन रोड पुलिस को मुखबिर से अफीम तस्करी की सूचना मिली थी। पुलिस ने इस पर कार्रवाई करते हुए रोडवेज बस स्टैंड से मांगूसिंह को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से चार किलो 500 ग्राम अफीम जब्त की थी। आरोपी ने पूछताछ में ग्राम रिण्डा के बसंतीलाल पाटीदार से 28,000 रुपए के भाव से अफीम खरीदने की जानकारी दी, जिसपर बसंतीलाल को भी गिरफ्तार कर दोनों के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया गया। बहरहाल, आरोप सिद्ध नहीं हो पाने के कारण न्यायालय ने बसंतीलाल को बरी कर दिया।