नवीनतम लेख

हिन्दी पत्रकारिता के पुरोधा : ठा. शिवप्रतापसिंह

प्रखर पत्रकार एवं संपादक के रूप में सर्वहारा वर्ग के उत्थान के लिये आजीवन संघर्ष करने वाले ठा. शिवप्रतापसिंह सिंह जी पूज्य ‘दादा’ [...]

अल्पसंख्यकों की सुरक्षा करना बहुसंख्यकों का दायित्व

हालांकि धर्म,नीति तथा समाज शास्त्रों द्वारा पूरे विश्व को यही सीख दी जाती है कि छोटे,कमाोर,आश्रित तथा असहाय लोगों का आदर किया जाए, [...]

फिर देश की कौन सोचेगा

संसदीय लोकतांत्रिक व्यवस्था में राजनीति श्रेष्ठतम कर्म होना चाहिए, क्योंकि इसके माध्यम से लोगों की नियति निर्माण की भूमिका आपको मिलती है। वास्तव [...]