गिरिजाघरों के वास्ते राजनीतिक सीमाओं संबंधी शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर करेंगे ट्रंप

वाशिंगटन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता से जुड़े एक बहु-प्रतीक्षित शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर करेंगे, जो गिरिजाघरों और धार्मिक समूहों के लिए राजनीति में हिस्सा लेना आसान बनाएगा और उनके कर में छूट के दर्जे को गंवाने के खतरे को भी खत्म करेगा।

यह एक ऐसा चुनावी वादा है, जिसे ट्रंप अपने प्रशासन के शुरूआती 100 दिनों में पूरा नहीं कर पाए।

व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने देर रात दी जानकारी में संवाददाताओं से कहा कि शासकीय आदेश मौजूदा नियमों में कोई बदलाव नहीं करेगा लेकिन उसके सहज क्रियान्वयन की दिशा में काम करेगा।

ट्रंप द्वारा इस शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर किए जाने की पूर्व संध्या पर धार्मिक नेताओं की मौजूदगी में व्हाइट हाउस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा , ‘‘सभी कानून अब भी लागू हैं। मौजूदा कानून के तहत जो कुछ भी अवैध है, वह अवैध ही रहेगा। हम कानून नहीं बदलने जा रहे।’’ बोलने की स्वतंत्रता और धार्मिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देने से जुड़ा शासकीय आदेश यह घोषणा करता है कि यह ट्रंप प्रशासन की धार्मिक स्वतंत्रता की सुरक्षा करने की नीति है।