हमने पर्याप्त प्रतिस्पर्धा नहीं दिखायी : कोहली

वेलिंगटन, भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड से पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में दस विकेट से मिली हार के बाद कहा कि उनकी टीम ने पर्याप्त प्रतिस्पर्धा नहीं दिखायी।

न्यूजीलैंड ने टास जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी के लिये भेजा। भारतीय टीम पहली पारी में 165 रन पर आउट हो गयी। उसका यह प्रदर्शन आखिर में निर्णायक साबित हुआ।

कोहली ने कहा, ‘‘टास महत्वपूर्ण साबित हुआ। लेकिन इसके साथ ही हम बल्लेबाजी इकाई के रूप में प्रतिस्पर्धी होने पर गर्व करते हैं लेकिन यहां हमने पर्याप्त प्रतिस्पर्धा नहीं दिखायी। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर 220-230 रन भी बने होते तो इससे अंतर पैदा हो सकता था। गेंदबाजी में हमने अच्छा खेल दिखाया। पहली पारी के खराब प्रदर्शन से हम पिछड़ गये और इसके बाद (न्यूजीलैंड की) पहली पारी की बढ़त से हम अधिक दबाव में आ गये। आखिर के तीन विकेटों और उन 120 रन ने हमें मैच से बाहर कर दिया था। ’’

कोहली ने कहा, ‘‘हम उनकी बढ़त 100 रन से कम रखना चाहते थे लेकिन उनके पुछल्ले बल्लेबाजों ने जो रन बनाये उससे मुश्किलें बढ़ी। गेंदबाज अब भी अधिक अनुशासित हो सकते हैं, वे अपने गेंदबाजी प्रदर्शन से खुश नहीं थे। ’’

पृथ्वी साव और मयंक अग्रवाल जैसे युवा बल्लेबाजों के बारे में कोहली ने कहा, ‘‘आप साव जैसे बल्लेबाजों को लेकर कड़क रवैया नहीं अपना सकते हो। उसका विदेशों में यह पहला टेस्ट मैच था। वह रन बनाने के तरीके ढूंढ लेगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मयंक ने अच्छी बल्लेबाजी की। (अजिंक्य) रहाणे के अलावा वह अन्य बल्लेबाज था जिसने बल्लेबाजी में हमारी तरफ से थोड़ा भरोसा दिखाया। हमारा मजबूत पक्ष बड़े स्कोर खड़ा करना है जो हम इस मैच में नहीं कर पाये। ’’

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने भी भारत को पहली पारी में सस्ते में आउट करने के महत्व पर बात की और अपने निचले क्रम के बल्लेबाजों की भी प्रशंसा की।

विलियमसन ने कहा, ‘‘यह चार दिन के अंदर किया गया बेजोड़ प्रदर्शन है। हम जानते हैं कि भारत का दुनिया भर में कितना दमदार प्रदर्शन रहा है। पहली पारी का प्रयास और इसके बाद प्रतिस्पर्धी स्कोर बनाना शानदार रहा। अच्छी बढ़त हासिल करने में निचले क्रम का योगदान महत्वपूर्ण रहा। ’’

पिच ने भी उनके तेज गेंदबाजों को मदद पहुंचायी। टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट ने भारत की दूसरी पारी में मिलकर नौ विकेट लिये।

विलियमसन ने कहा, ‘‘टेस्ट की पहली सुबह पता नहीं था कि पिच कैसा व्यवहार करेगी क्योंकि इस सप्ताह हवा नहीं चल रही थी। गेंदबाजों ने थोड़ी स्विंग हासिल की। गेंदबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा लेकिन यह जीत सामूहिक प्रयास से मिली।