श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ २७ से

उज्जैन। परम पूजनीया श्री माताजी किशोरीजी की प्रेरणा से स्व. श्रीमती कमलाबाई (संतोष कुटी वाली मैया) की स्मृति में २७ जनवरी से श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। बाल व्यास पं. श्री श्रीकान्तजी शर्मा के मुखारविंद से कथा होगी।
शनिवार को सामाजिक न्याय परिसर में आयोजित पत्रकारवार्ता में रामजी मलावत ने बताया कि २७ जनवरी से २ फरवरी तक श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। प्रतिदिन दोपहर ३ से सायं ७ बजे तक कथा होगी। प्रथम दिवस २७ जनवरी को दोपहर १ बजे से क्षीरसागर से शोभा यात्रा निकाली जाएगी। जो विभिन्न मार्गों से होती हुई सामाजिक न्याय परिसर पहुंचेगी। यहाँ ध्वजा पूजन किया जाएगा। तत्पश्चात पूज्य बाल व्यास पं. श्री श्रीकांत शर्मा के मुखारविंद से भागवत कथा की ज्ञान गंगा बहेगी। इसके तहत प्रथम दिवस श्रीमद् भागवत कथा महात्म्य, गोकर्ण उपाख्यान २४ अवतार-विराट वर्णन, श्री शुकदेव आगमन का वर्णन होगा। २८ जनवरी को ध्रुव चरित्र, जड़ भरत कथा, २९ जनवरी को प्रहलाद चरित्र, वामन अवतार, ३० जनवरी को श्रीराम अवतार, श्रीकृष्ण जन्मोत्सव (नंदोत्सव), ३१ जनवरी को श्रीकृष्ण बाल-लीला, गोवर्धन उत्सव, १ फरवरी को वैकुण्ठ दर्शन, कंस वध, रुक्मिणी विवाह व २ फरवरी को सुदामा चरित्र वर्णन के साथ कथा विश्राम होगी। संपूर्ण कथा के मुख्य यजमान सत्यनारायण जायसवाल-उमादेवी जायसवाल हैं। पत्रकारवार्ता के दौरान शिवपालसिंह भदौरिया, राजेश श्रीवास्तव, श्याम मेहरवाल, जेठानंद, संजय चौहान, महेश जोशी आदि उपस्थित थे।