झारखंड में देश का 40 प्रतिशत खनिज है, यहां की मानवीय प्रतिभा भी अप्रतिम है : राष्ट्रपति

रांची,  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज यहां कहा कि झारखंड देश के चालीस प्रतिशत खनिजों से भरापूरा तो है ही, बल्कि यहां की मानवीय प्रतिभा भी अप्रतिम है क्योंकि यहीं से परमवीर चक्र विजेता शहीद एल्बर्ट एक्का, क्रिकेट की दुनिया के अनमोल हीरे महेन्द्र सिंह धोनी, हॉकी टीम के कप्तान जयपाल सिंह मुंडा और तीरंदाज दीपिका कुमारी जैसी विश्व प्रतिभाओं ने भी जन्म लिया है।

रांची विश्वविद्यालय के 33वें दीक्षान्त समारोह में अपने दीक्षान्त भाषण में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज यह कहा।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें बिरसा मुंडा के जीवन से प्रेरणा लेते हुए झारखंड के आदिवासी समाज से भी प्रकृति के साथ सामंजस्य का जीवन जीने के लिए बहुत कुछ सीखना होगा।’’

राष्ट्रपति ने कहा कि आदिवासी समाज भलीभांति जानता है कि प्रकृति से मिलजुलकर कैसे अपना जीवन जीया जाता है। इससे न सिर्फ उसकी भलाई होती है बल्कि प्रकृति का भी संरक्षण और प्रवर्धन होता है।

उन्होंने कहा कि आज के युवा वर्ग को रोजगार देने वाला बनने के साथ समाज के तमाम वर्गों एवं अन्य युवाओं को भी अपने साथ जोड़ने का काम करना चाहिए। उन्होंने राज्य की बेटियों की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि बेटियों के प्रदर्शन में भारत का भविष्य झलकता है।

उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि आज रांची विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में कुल 56 स्वर्ण पदक विजेताओं में 47 बेटियां और सिर्फ नौ बेटे हैं।

उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आगामी 150वीं जयन्ती का उल्लेख करते हुए युवाओं का आह्वान किया, ‘‘आप किसी भी प्रकार के व्यसन से दूर रहें और विशेषकर ई-सिगरेट का कतई इस्तेमाल न करें क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसीलिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की अनुशंसा पर इस पर पूरे देश में पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है।’’

उन्होंने झारखंड को पिछले तीन वर्ष के भीतर 16 प्रतिशत खुले में शौच से मुक्त :ओडीएफः से आगे बढ़कर सौ प्रतिशत तक खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए राज्य सरकार की प्रशंसा की।

राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालयो एवं उसके छात्रों से अपने क्षेत्र में यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी :यूएसआरः का निर्वहन करने की अपील की और कहा कि वह अपने सामाजिक क्षेत्र में ग्रामीणों एवं आदिवासियों से नियमित मुलाकात करें और उन्हें देश और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं नये अवसरां के बारे में प्रशिक्षित करें।

राष्ट्रपति ने इस अवसर पर सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले 11 छात्रों को स्वर्ण पदक प्रदान किए।

कार्यक्रम में राज्यपाल और विश्वविद्यालय की कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास तथा कुलपति डा. रमेश पांडेय ने भी छात्रों को संबोधित किया।