जेटली का नयी तकनीक पर जोर

नयी दिल्ली,  वित्तमंत्री अरूण जेटली ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिये कृषि क्षेत्र में नवीनतम तकनीक और अधिक उपज वाली फसलों कि किस्म अपनाये जाने पर जोर दिया है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा कृषि क्षेत्र को दिए जाने वाले प्रोत्साहन ढांचे की भी समीक्षा की जरूरत है। साथ ही कृषि उपज के नुकसान को कम करने और कृषि उत्पादों के विपणन को बेहतर बनाने की भी जरूरत है।

जेटली ने यह बात आज यहां कृषि क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ अपनी पहली बजट पूर्व विचार विमर्श एवं सलाहकार बैठक में कही।

जेटली ने कहा, ‘‘भविष्य में कृषि उत्पादन को बढ़ाने और 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने को सुनिश्चित करने के लक्ष्य के लिए हमें उच्च कृषि उत्पादकता चाहिए और इसके लिए यह भी ध्यान में रखना होगा कि फसली भूमि की विस्तार की अपनी सीमाएं हैं।’’ जेटली ने तकनीक के प्रयोग पर जोर देते हुए कहा कि हमें विशेषतौर पर उच्च पैदावार और प्रतिरोधक क्षमता वाले बीजों, सिंचाई के लिए पानी के किफायती इस्तेमाल, नयी सूचना प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल जिससे कि मौसम के अनुरूप चरणों में बुवाई की जा सके इत्यादि को भी अमल में लाने की जरूरत है।