भारत की आर्थिक प्रगति का मतलब है आम आदमी के लिए बेहतर संभावनाएं: शाह

नयी दिल्ली,  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अर्थव्यवस्था में 8.2 प्रतिशत की वृद्धि दर के लिए मोदी सरकार द्वारा किये गये बदलावों को श्रेय देते हुए आज कहा कि इसका मतलब आम आदमी के लिए बेहतर संभावनांए होना है।

भारतीय अर्थव्यस्था ने मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8.2 प्रतिशत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर हासिल की है जो पिछली कई तिमाहियों में सर्वाधिक है।

पूर्ववर्ती संप्रग सरकार को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कमान संभाली तो अर्थव्यवस्था की हालत खराब थी। किन्तु अविचलित राजग, पूरे मंत्रिमंडल ने भारत को पटरी पर लाने के लिए दत्तचित्त होकर काम किया।

शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत की बेहतर हो रही आर्थिक स्थिति का मतलब है कि आम आदमी के लिए बेहतर संभावनाएं जिनके पास अब अपने सपनों को साकार करने के लिए अधिक अवसर और संभावनाएं होंगी। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में नया भारत पहले की तुलना में कहीं अधिक अधिकारसंपन्न हैं। इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए प्रधानमंत्री को मेरी शुभकामनाएं।’’

शाह ने कहा कि तेजी से बढ़ रही जीडीपी मोदी सरकार द्वारा लाये गये रूपान्तरण वाले बदलावों को इंगित करती है। उन्होंने कहा कि विनिर्माण से लेकर कृषि तक सभी क्षेत्रों में भारतीय अर्थव्यवस्था में अभूतपूर्व विकास देखने को मिल रहा है।

अरूण जेटली की अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय का प्रभार देख चुके केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने विकास दर को अद्भुत बताया।

उन्होंने कहा कि यह अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए सरकार द्वारा की गयी पहल को इंगित करता है और यह प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किये गये साहसिक सुधारों का परिणाम है।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में भारत का विश्व की तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के रूप में आगे बढ़ना जारी है।