शाह ने वाराणसी में दिया भाजपा पदाधिकारियों को जीत का ‘गुरुमंत्र’

वाराणसी,  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने पूर्वांचल के पार्टी पदाधिकारियों को जीत का ‘गुरुमंत्र’ देते हुए उनसे विकास के साथ-साथ राष्ट्रवाद को केंद्र में रखते हुए प्रचार अभियान तेज करने की अपील की है।भाजपा सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘ऐतिहासिक’ जीत समेत पूर्वांचल में भाजपा के ‘विजय रथ’ को आगे बढ़ाने के लिए पार्टी के मंत्रियों, विधायकों एवं पदाधिकारियों से विकास के साथ-साथ राष्ट्रवाद को केंद्र में रखते हुए प्रचार अभियान तेज करने को कहा।श्री शाह ने शुक्रवार देर रात यहां श्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी एवं पर्वांचल अन्य लोक सभा क्षेत्रों में चुनावी तैयारियों की समीक्षा की। अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार शाम यहां पहुंचे भाजपा प्रमुख ने पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ करीब तीन घंटे तक अलग-अलग बैठकें कीं। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री राज्य के प्रभारी जगत प्रकाश नड्डा, प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय, संगठन मंत्री सुनील बंसल, काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव समेत पार्टी के तमाम विधायक एवं वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद थे।उन्होंने बताया कि श्री शाह ने पूर्वांचल के नेताओं से अब तक की चुनावी तैयारियों की विस्तार से जानकारी ली तथा चुनाव होने तक प्रचार-प्रसार तेज करने लिए ‘गुरु मंत्र’ दिया। उन्होंने बताया के पार्टी अध्यक्ष ने श्री मोदी के संसदीय क्षेत्र समेत पूर्वांचल में किये गए विकास कार्यों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के साथ-साथ राष्ट्रीय सुरक्षा के मोर्चें पर गत पांच वर्षों की उपब्धियों को आम जनता के बीच ले जाने पर जोर दिया। बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के माध्यम से जनता से लगातार संपर्क बनाये रखने को कहा। पार्टी अध्यक्ष ने विधायक, मंत्री और पदाधिकारियों से बूथ प्रमुखों से लगातार संपर्क बनाये रखने और चुनाव प्रचार की समीक्षा सुनिश्चित करने पर जोर दिया।सूत्रों ने बताया कि श्री शाह ने वाराणसी लोक सभा क्षेत्र के पार्टी पदाधिकारियों से श्री मोदी के नामांकन के मौके पर अयोजित ‘रोड शो’ को ऐतिहासिक बनाने पर जोर देते हुए कहा कि इसका असर पूर्वांचल ही नहीं, देश के दूसरे हिस्सों में भी पड़ेगा। इसलिए इसकी तैयारियों पर विशेष ध्यान दिया जाए।बैठक में शामिल एक पदाधिकारी ने बताया कि श्री मोदी आगामी 25 और 26 अप्रैल को पूजा-अर्चना एवं रोड शो के बाद अपना नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं। वह 25 को काशी हिंदू विश्वविद्यलय (बीएचयू) के मुख्य द्वारा पर स्थित महामना मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद गोदौलिया चौराहे तक रोड शो करेंगे तथा शाम में दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की पूजा-अर्चना एवं आरती में शामिल होंगे। अगले दिन 26 अप्रैल को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद संक्षिप्त रोड शो करते हुए अपना नामांकन पत्र दाखिल करने जाएंगे। वाराणसी में 19 मई को सातवें और अंतिम चरण में मतदान होगा।गौरलतब है कि श्री मोदी ने 2014 में वाराणसी संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीतकर प्रधानमंत्री बने। भाजपा ने फिर यहां से उन्हें अपना उम्मीदवार घोषित किया है। पहली बार यहां वह गुजरात के मुख्यमंत्री रहते लोक सभा चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था। इस बार प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए दूसरी बार यहां से नामांकन करेंगे तथा चुनावी मैदान में उतरेंगे।

Leave a Reply