भारतीय टीम के भीतर ही कड़ी हो रही है प्रतिस्पर्धा : धवन

माउंट माउंगानुइ, सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने शुक्रवार को कहा कि पृथ्वी शॉ और शुभमान गिल के भारतीय टीम में आने से साबित हो गया है कि आगामी प्रतिभायें तेजी से ‘परिपक्व’ हो रही हैं और इससे टीम के भीतर प्रतिस्पर्धा बढी है ।

शॉ ने अक्तूबर में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया जबकि गिल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मौजूदा वनडे श्रृंखला में टीम में जगह बनाई है । दोनों बल्लेबाजों ने एक साल पहले न्यूजीलैंड में भारत की अंडर 19 विश्व कप जीत में अहम भूमिका निभाई ।

धवन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे वनडे से पहले कहा ,‘‘ मेरा मानना है कि युवा खिलाड़ी तेजी से परिपक्व हो रहे हैं जिससे टीम में प्रतिस्पर्धा बढी है । हर किसी को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा ।’’

उन्होंने कहा ,‘‘पृथ्वी शॉ ने टीम में आकर वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक जमाया और 70 रन बनाये । इससे पता चलता है कि हमारी बेंच स्ट्रेंथ कितनी मजबूत है । टीम के 15 सदस्यों के बीच भी काफी प्रतिस्पर्धा है ।’’

धवन ने पहले वनडे में नाबाद 75 रन बनाकर इस प्रारूप में 5000 रन भी पूरे किये ।

उन्होंने कहा ,‘‘ इससे पता चलता है कि मैं अच्छा खेल रहा हूं ।’’

यह पूछने पर कि क्या आस्ट्रेलिया के बाद उन्होंने अपने खेल में कोई बदलाव किया, उन्होंने कहा ,‘‘ आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में हालात एक से ही है । मैं अब अनुभवी खिलाड़ी हूं और यहां पहले भी आ चुका हूं । मुझे पता है कि यहां क्या करना है और क्या नहीं करना है । मुझे पता है कि मैं हर तरह की विकेट पर अच्छा खेल सकता हूं ।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ मैने न्यूजीलैंड दौरे के लिये फुटवर्क और तकनीक पर कोई काम नहीं किया और किया भी होगा तो बताऊंगा नहीं । अनुभवी होने पर आपका दिमाग स्थिर और शांत हो जाता है ।’’

नेपियर में कप्तान विराट कोहली के साथ साझेदारी के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘ विराट के साथ बल्लेबाजी का फायदा यह है कि वह काफी तेजी से स्ट्राइक रोटेट करता है । इससे विरोधी टीम पर दबाव बनता है ।’’