महाकाल क्षेत्र को कत्लखानों से मुक्त किया जाएः श्री जितेन्द्रानंद सरस्वती

उज्जैन। स्वर्णिम भारत मंच द्वारा आयोजित युवा संगम कार्यक्रम में शामिल होने उज्जैन आए हिन्दू आश्रम मुंबई के संस्थापंक श्री जितेंद्रनंद सरस्वती ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि महाकाल क्षेत्र को पूरी तरह निर्मल बनाया जाए। महाकाल वन की 2 किमी परिधि को मांस-मटन की दुकानों व कत्लखानों से मुक्त किया जाए। शहर में स्थित मांस-मटन की दुकानों को मुख्य मार्गो से हटा कर अंदर की जाए। साथ ही क्षिप्रा नदी को प्रवाह मान बनाने के अपने वचन को पूरा करें। अगर सरकार वादा खिलाफी करती है तो संत समाज उग्र आंदोलन करेगे।

श्री जितेंद्रनंद सरस्वती ने कहा कि चुनाव के दौरान कमलनाथ जी से बात हुई तब कमलनाथ जी ने कहा था सरकार बनने पर संतों की मांग एवं बातें मानी जाएगी जिसमें जितेंद्र जिंद्रआनंद सरस्वती ने कहा कि उज्जैन महाकाल क्षेत्र के पास बने हुए मांस मटन एवं कत्ल खानो की दुकानों को हटाया जाए और उज्जैन के पवित्र नगरी घोषित किया जाए। कमलनाथ सरकार को अपने वचन को पूरा करने की मां रखते हुए स्वामी श्री जितेन्द्रानंद सरस्वती ने कहा कि अगर सरकार संतों से किया अपना वादा नहीं निभाते हैं तो संत समाज इसके लिए आने वाले समय में एक वृह आंदोलन करने के लिए बाध्य होगे।

Leave a Reply