श्रमिक संगठनों की हड़ताल से दूसरे दिन भी प्रभावित हुईं बैंकिंग सेवाएं

नयी दिल्ली,  केंद्रीय श्रमिक संगठनों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल से बैंकिंग सेवाएं बुधवार को दूसरे दिन भी आंशिक तौर पर प्रभावित हुईं।

सरकार की कथित श्रमिक विरोधी नीतियों के विरोध में दस केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने आठ और नौ जनवरी को दो दिन की हड़ताल का आह्वान किया है। कुछ बैंक कर्मचारी संगठनों ने भी इस हड़ताल का समर्थन किया है।

आल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा बैंक एम्पलाइज फेडरेशन आफ इंडिया (बीईएफआई) ने हड़ताल का समर्थन किया है। हड़ताल से उन बैंकों का परिचालन प्रभावित हुआ है जहां इन दो संगठनों का ज्यादा प्रभाव है।

हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक और निजी क्षेत्र के बैंकों में कामकाज पर असर नहीं पड़ा है, क्योंकि बैंक कर्मचारियों के सात अन्य संगठन हड़ताल में भाग नहीं ले रहे हैं।

एआईबीईए के महासचिव सी.एच.वेंकटचलम के अनुसार, नकद लेन-देन, चेक निस्तारण, निकासियों, विदेशी मुद्रा विनिमय आदि पर असर पड़ा है।

उन्होंने दावा किया कि हड़ताल के कारण मंगलवार को 20 हजार करोड़ रुपये के चेक का निस्तारण नहीं हो सका।

सार्वजनिक क्षेत्र के कई बैंक पहले ही अपने ग्राहकों को सूचित कर चुके हैं कि हड़ताल की स्थिति में सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं।