गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हुए मुशायरे में शामिल हुए उज्जैन के शायर

उज्जैन। दादरी में गार्वित केम्पस में आयोजित हुए दुनिया के सबसे बड़े मुशायरे के शेषन 14 में उज्जैन का नेतृत्व करते हुवे उज्जैन की शान मलंग खान एवं अफरोज सहर ने कलाम पढ़ कर उपस्थित सैकड़ों सामईन और शोरा का दिल जीत लिया और खूब दाद बओरी। नोएडा के साहितय प्रेमी और उद्योगपति संजय भाटी द्वारा अपने परम मित्र और मशहूर नाजिम नदी बर्रुख की इच्छानुसार निरंतर 100 घंटे तक चलने वाले इस मैराथन कवि सम्मेलन एवं मुशायरा पुर्णता देश को समर्पित कर नाम दिया गया था ‘ए वतन तेरे लिये’ जिसमें देश के 550 शायर एवं कवियों ने भाग लिया और देश का मान बढ़ाया। इस ऐतिहासिक मैराथन कवि सम्मेलन एवं मुशारे ने दो विश्व रिकार्ड अपने नाम किये। पहला रिकार्ड पाकिस्तान के वर्ल्ड रिकार्ड जो की 48 का था ध्वसथ कर 100 घंटे का रिकार्ड अपने नामकिया। दुसरा रिकार्ड 100 घंटे तक निरंतर निजामत (संचालन) कर बनाया गया है। दादरी के 4000 एकड़ जमीन पर बने गार्वित केम्पस में आयोजित इस ऐतिहासिक आयोजन की बाग डोर नदीम फरूर्ख सा. के  साथ डॉ. नदीम शाद साए नदीम नयर सा., सिकंदर हयात सा., एवं उनकी टीम ने संभाल रखी थी। आयोजन में सम्मिलित सभी कवि एवं शायरों को सम्मान पत्र एवं मोमेंटों केसाथ शाल आदी गिफत और उचित राशी दैकर सम्मानित भी किया गया जिसकी पूरेदेश में प्रशंसा कि जा रही है।

Leave a Reply