अफ्रीकी देशों की यात्रा बहुत ही लाभकारी रही: नायडू

उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने मंगलवार को कहा कि उनकी तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा “बहुत ही लाभकारी” रही। यह नये क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाने की कोशिश करके और मौजूदा संबंधों को मजबूत करके भारत और अफ्रीका के संबंधों को अगले स्तर पर लाई है।

बोत्सवाना, जिम्बाब्वे और मलावी की छह दिवसीय यात्रा करके नायडू मंगलवार सुबह भारत पहुंचे।

नायडू ने संवाददाताओं से कहा, “इस सरकार के पिछले साढे़ चार साल में अफ्रीका की 29 यात्राएं की गयी हैं। इनमें राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री स्तर की यात्रा शामिल हैं। यह वास्तव में अभूतपूर्व है।”

उन्होंने कहा कि भारत, अफ्रीका के साथ संबंधों को उच्च प्राथमिकता देता है।

नायडू ने कहा, “सरकार अफ्रीका के साथ संबंधों को अधिक प्राथमिकता देती है, आप इस बात से वाकिफ हैं। वास्तव में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में अफ्रीका के साथ संबंधों को मजबूत करने के लिये 10 मार्गदर्शक सिद्धांत निर्धारित किये थे। मेरी तीन देशों की यात्रा इसी के संदर्भ में थी।”

उन्होंने कहा कि उनकी यात्रा “बेहद लाभकारी” रही।

उप-राष्ट्रपति ने कहा कि काफी लंबे अंतराल के बाद इन तीन देशों में शीर्ष नेतृत्व की यह पहली यात्रा है। वास्तव में, 21 साल बाद किसी शीर्ष नेता ने जिम्बाब्वे की यात्रा की है। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति ने इसकी सराहना की।

नायडू ने कहा कि इन देशों के शीर्ष नेतृत्व ने गर्मजोशी के साथ मेरा स्वागत किया। बोत्सवाना के राष्ट्रपति हवाई अड्डे पर मुझसे मिलने के लिये मोजाम्बिक की अपनी यात्रा से वापस आये। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति ने मेरे साथ एक घंटे से अधिक का समय बिताया और हमने साझा हितों के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। मलावी के राष्ट्रपति ने खुद मेरी मेजबानी की और मेरे सम्मान में शाकाहारी मध्याह्न-भोजन (लंच) आयोजित किया।

Leave a Reply