त्यौहार आते ही मिलावटखोर सक्रिय

उज्जैन (नईम परवेज)। हर वर्ष दीपावली सहित अन्य बड़े त्योहार के आने से पूर्व ही जिले भर में मिलावट खोर सक्रिय हो जाते हैं, जो मिलावटी मावा दूध सहित अन्य सामग्री दुकानदारों को खपा भी देते हैं लेकिन अपनी फिक्स मिठाई के चलते जिम्मेदार अधिकारियों को तो जैसे लोगों के स्वास्थ्य से कोई लेना देना ही नही और कार्रवाई करने भी निकलता है तो आने से पूर्व सभी दुकानदारों को सूचना कर देते हैं क्योंकि मिठाई जो मिलती है? उज्जैन सहित जिले भर में त्यौहार नजदीक आते ही नकली मावे से मिठाइयां बनना शुरू हो गई है। इसके बाद भी खाद्य विभाग ने दूध व मावे की जांच पड़ताल व सैंपलिंग शुरू नहीं की है। गौरतलब यह है कि यदि खाद्य विभाग इसी तरह सोता रहा तो त्यौहार के लिए नकली मावे से त्यौहार के लिए मिठाइयां तैयार हो जाएगी। जिससे खुशियों के त्यौहार में लोग दूषित व मिलावटी मावे की मिठाइयां खाकर बीमार हो जाएंगे। विभाब द्वारा अब तक सैंपलिंग तक शुरू नही ंकी गई है। त्यौहार के चलते दूध, मावा सहित अन्य सामग्री की मांग ज्यादा बढ़ते ही मिलावट खोर सक्रिय हो जाते हैं जिसमें वे न केवल दूध, मावा,पनीर घी मिलावटी तैयार कर दुकानदारों सहित आमजन को खपा देते हैं। जानकारों ने बताया है कि नकली खाद्य पदार्थ में ऐसी दवाइयां व केमिकल का प्रयोग करते हैं जिससे नकली व असली सामग्री को पहचाना आम व्यक्ति को मुश्किल हो जाता है।