अमेरिका परमाणु संधि से अलग होकर ‘एकध्रुवीय विश्वशक्ति’ का सपना देख रहा है : रूस

मॉस्को, रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा कि रूस के साथ ऐतिहासिक परमाणु संधि से अलग होने का अमेरिका का कदम अकेले वैश्विक महाशक्ति बनने के सपने से प्रेरित है।

विदेश मंत्रालय के एक सूत्र ने सरकारी आरआईए नोवोस्ति समाचार एजेंसी से कहा, ‘‘मुख्य मकसद एकध्रुवीय दुनिया का सपना है। क्या यह सच होगा? नहीं।’’

अधिकारी ने बताया कि रूस ने ‘‘कई बार सार्वजनिक तौर पर यह कहा कि अमेरिका की नीति परमाणु समझौता खत्म करने की ओर अग्रसर है।’’

अधिकारी ने कहा कि अमेरिका समझौते के आधार को खत्म करके जानबूझकर और चरणबद्ध तरीके से कई वर्षों से इस कदम की ओर बढ़ रहा था।

उन्होंने कहा, ‘‘यह फैसला अमेरिका की उस नीति का हिस्सा है जिसमें उसे उन अंतरराष्ट्रीय समझौतों से अलग होना है जिसमें उस पर तथा उसके साझेदारों पर बराबर की जिम्मेदारियां हैं और अपने ‘अपवाद’ की अवधारणा को कमजोर बनाना है।’’