मोदी सरकार ने पूरे देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने का सबसे बड़ा काम किया है: शाह

शिवपुरी (मध्यप्रदेश), पाकिस्तान सीमा पर भारतीय सेना द्वारा करीब दो साल पहले की गई सर्जिकल स्ट्राइक को गौरव की बात कहते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपानीत सरकार ने पूरे देश की सुरक्षा को सुनिश्चित किया है।

शाह ने यहां पोलो ग्राउंड में ग्वालियर एवं चंबल संभाग के नौ जिलों के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘सबसे बड़ी बात अगर भाजपा ने इस देश के अंदर की है तो पूरे देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने का काम नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया है।’’

तत्कालीन यूपीए सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की सरकार सोनिया गांधी-मनमोहन सिंह की सरकार थी। ये पाकिस्तान के आलिया-मालिया और जमालिया के लोग कभी भी सीमा में घुस कर हमारे सेना के जवानों के सिर काट कर ले जाते थे। कोई कुछ बोलता नहीं था।’’

शाह ने कहा, ‘‘केन्द्र में भाजपा की सरकार आई। पाक बाज नहीं आया। उड़ी में फिर से एक बार (पाक ने) हिम्मत कर दी। हमारे 12 जवानों को जिंदा जला दिया। उनको सुबह उठने का मौका भी नहीं दिया। पूरे देश भर में गुस्सा, निराशा आक्रोश था कि अब क्या होगा, मोदी जी भी क्या कर सकते हैं।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘ये अखबार वाले भी तंज करते थे कि (मनमोहन सिंह को) मौनी बाबा कहने वाले (खुद) मौन होकर बैठे हैं। मगर मित्रो, इस बार कांग्रेस की सरकार नहीं थी। भाजपा की सरकार थी। मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री नहीं थे। मेरे और आपके नेता नरेन्द्र मोदीजी प्रधानमंत्री थे। दस ही दिन में मोदीजी ने फैसला लिया और सेना को 12 बजे हुक्म दिया। हमारे सेना के जवानों रात में पाक के घर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक कर सेना के जवानों का बदला लेकर शान से वापस आ गये।’’

शाह ने कहा, ‘‘सर्जिकल स्ट्राइक पर राहुल बाबा का स्टेटमेंट क्या आया। शंका करते हैं, सेना पर भरोसा नहीं। (राहुल ने) भाषण दिया कि मोदीजी आप सेना के खून की दलाली करते हो।’’

उन्होंने कहा,‘‘अरे शर्म करो राहुल बाबा। सेना के शहीद के जज्बे को आप क्या जानो। आप की आंख पर इतालवी चश्मा चढ़ा हुआ है, पहले उसको उतारो।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मित्रो, सर्जिकल स्ट्राइक होने के पहले पूरे विश्व के अंदर अपने सेना के जवानों का बदला लेने वाले केवल दो ही देश थे- एक अमेरिका और दूसरा इज़राइल। सर्जिकल स्ट्राइक समाप्त होने के साथ ही इन दो देशों की सूची में मोदीजी ने तीसरा नाम भारत का जोड़ने का काम किया है। मित्रो, यह बड़ी गौरव के बात है।’’