शिवराज ने राहुल गांधी पर किया जमकर हमला

भोपाल,  (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर हमला बाेलते हुए कहा कि उन्होंने देश को ‘मनोरंजन’ और राजनीति को ‘तमाशा’ बना दिया है।

श्री चौहान यहां जंबूरी मैदान पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता महाकुंभ को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अलावा केंद्रीय और प्रदेश के वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे। श्री चौहान ने श्री गांधी के साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर भी हमला बोला और कहा कि वे सभी सत्ता नहीं होने पर बौखलाए हुए हैं और कमर के नीचे वार करने से नहीं चूक रहे हैं।श्री चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले वे राजधानी भोपाल आए थे और उन्होंने आंख से वही हरकत यहां भी की, जो उन्होंने कुछ समय पहले संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाने के बाद की थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे समझते थे कि श्री गांधी अब परिपक्व हो गए होंगे, लेकिन इन हरकतों से साफ हो गया है कि ऐसा नहीं हुआ।श्री चौहान ने श्री गांधी के ‘शिव भक्त’ के रूप में प्रचारित करने पर कहा कि वे मान सरोवर की यात्रा से आए और अपनी फोटो सोशल मीडिया में वायरल कर रहे हैं। श्री गांधी बार बार विदेश जाते हैं और वह वहां क्या करते हैं, इसकी भी फोटो वायरल की जाना चाहिए।मुख्यमंत्री ने श्री गांधी द्वारा उन्हें हाल ही में ‘घोषणा मशीन’ बताए जाने का जिक्र किया और कहा ‘ हां, मैं निश्चित ही घोषणा करता हूं, लेकिन उन्हें पूरा भी करता हूं।’ उन्होंने वर्ष 2003 के पहले सड़क, बिजली और अन्य क्षेत्रों में राज्य की जर्जर और बिगड़ी हुयी स्थिति का विस्तार से जिक्र किया और कहा कि भाजपा ने 2003 के बाद सत्ता में आने के बाद डेढ़ लाख किलोमीटर सड़कें बनायीं। बिजली 24 घंटे दी जा रही है। सिंचाई क्षमता पांच से छह गुना बढ़ा दी गयी है। बालिकाओं और महिलाओं के कल्याण के लिए भी अनेक योजनाएं बनायी गयी हैं।

श्री चौहान ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए कार्यकर्ताओं को आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत दर्ज कराने के लिए तीन संकल्प दिलाए कि कार्यकर्ता पूरा समय पार्टी को देंगे, अपना बूथ जिताएंगे और चुनाव कोई भी लड़े कमल के चुनाव चिह्न वाले का ही समर्थन करेंगे। उन्होंने लोकसभा में सभी 29 सीट और विधानसभा में 200 पार के लिए तैयार रहने को कहा।वहीं श्री चौहान ने प्रदेश कांग्रेस संगठन पर हमला किया और उनके यहां अभी भी नेतृत्व का संकट है। सभी जगह अलग-अलग नेता हैं। उनका कोई एक सेनापति नहीं है। कांग्रेस के राजा-महाराजा यह सहन नहीं कर पा रहे कि उनके जैसा व्यक्ति मुख्यमंत्री है।कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि हमने गरीबों के लिए योजनाएं बनाई तो उन्हें रोकने के लिए कांग्रेस वाले कोर्ट में चले गए। वे नहीं चाहते कि गरीबी हटे।