जिला पंचायत उपाध्यक्ष पद से हटाने का भाजपा का षड्यंत्र

उज्जैन। जिला पंचायत के उपाध्यक्ष भरत पोरवाल निर्वाचित जनप्रतिनीधी को इस प्रकार बगैर प्रक्रिया अपनाये पद से पृथक करना एवं सदस्यता समाप्त करने का घटनाक्रम भाजपा के दबाव में हुआ। उज्जैन कांग्रेस कार्यालय में कांग्रेस कमेटी शहर ‘जिला’ अध्यक्ष महेश सोनी, पूर्व ससंद सत्यनारायण पंवार, जिला पंचायत अध्यक्ष महेश परमार और जिला पंचायत के उपाध्यक्ष भरत पोरवाल ने प्रेसवार्ता में बताया कि तत्काल जिला पंचायत सी.ओ. श्रीमति रूचिका चौहान द्वारा, कलेक्टर कविन्द्र कियावत, कैलाश बुंदेला, अरूण नागर, रमेश राय के सामने उनके अधिनस्तो द्वारा नाम निर्देश के फार्म फाड़े गये थे, उस घटना के बाद पोरवाल के खिलाफ भाजपा के दबाव में कांग्रेस के जिला पंचायत में हुए मतदान का दुर्भवना पूर्वक कार्यवाही करते हुये, पोरवाल के खिलाफ धारा 40 का गलत उपयोग किया। जबकि इनके द्वारा पोरवाल पर बेलेट पेपर फाड़ने का आरोप लगाया और भरत पोरवाल को षड्यंत्र पूर्वक फसाया गया। उज्जैन जिले में 150 सरपंच को भी धारा 40 के नाम से डराया जा रहा है। अधिकारी भाजपा का एजेंट बनकर काम कर रहे है।