कोहली का प्रयास बेकार गया, भारत ने गंवाया पहला टेस्ट

बर्मिंघम, कप्तान विराट कोहली की साहसिक पारियां आखिर में बेकार चली गयी और भारत को बल्लेबाजों की नाकामी के कारण पहला टेस्ट क्रिकेट मैच आज यहां चौथे दिन ही 31 रन से गंवाना पड़ा।

यह एक तरह से कोहली बनाम इंग्लैंड मुकाबला बन गया था लेकिन पारी के 47वें ओवर में बेन स्टोक्स ने भारतीय कप्तान को पगबाधा आउट कर दिया जिसके बाद इंग्लैंड की जीत महज औपचारिता रह गयी जिसने अपने 1000वें टेस्ट मैच का जश्न पांच मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त लेकर मनाया।

भारत ने सुबह पांच विकेट पर 110 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन उसकी पूरी टीम 54.2 ओवर में 162 रन पर ढेर हो गयी। पहली पारी में 149 रन की लाजवाब पारी खेलने वाले कोहली दूसरी पारी में 51 रन बनाकर टीम की तरफ से सर्वाधिक स्कोर खड़ा करने वाले बल्लेबाज रहे। हार्दिक पंड्या ने 31 रन बनाये।

आलराउंडर बेन स्टोक्स (40 रन देकर चार विकेट) ने चौथे दिन की सुबह अपने नाम की। उन्होंने कोहली और मोहम्मद शमी को एक ओवर में चार गेंद के अंदर पवेलियन की राह दिखायी। जेम्स एंडरसन (50 रन देकर दो) और स्टुअर्ट ब्राड (43 रन देकर दो) ने दो-दो विकेट लिये।

भारतीय गेंदबाजों ने दोनों पारियों में अच्छी भूमिका निभायी लेकिन कोहली को छोड़कर अन्य भारतीय बल्लेबाजों की नाकामी हार का कारण बनी।

दूसरा टेस्ट मैच नौ अगस्त से लार्ड्स में खेला जाएगा।

भारत के लिये चौथे दिन की शुरुआत बेहद खराब रही। दिनेश कार्तिक पहले ओवर में ही पवेलियन लौट गये। एंडरसन ने उन्हें स्लिप में कैच कराया।

इसके बाद पंड्या क्रीज पर आये और कोहली ने भी अपने इस साथी पर भरोसा दिखाया। इन दोनों की साझेदारी में पंड्या ने अधिकतर गेंदें खेली। पहले 15 मिनट के खेल में कोहली ने केवल छह गेंदों का सामना किया लेकिन पंड्या का आत्मविश्वास बढ़ता गया। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिये 29 रन जोड़े।

भारतीय कप्तान ने 88 गेंदों पर अपना 17वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया। इस बीच पंड्या ने ब्राड पर दो चौके लगाये जिसके बाद उनकी जगह स्टोक्स को गेंद थमा दी गयी। स्टोक्स ने कोहली को पगबाधा आउट करके इंग्लैंड की टीम को जश्न में डुबो दिया। भारतीय कप्तान ने डीआरएस का सहारा भी लिया लेकिन इससे भी काम नहीं चला।

शमी (शून्य) बल्लेबाजी के लिये आये लेकिन स्टोक्स ने उन्हें विकेट के पीछे कैच करा दिया। इन गर्मियों में प्रथम श्रेणी मैचों में अपना पहला अर्धशतक जमाने वाले इशांत शर्मा (11) शमी की तुलना में अधिक सहज दिख रहे थे। उन्होंने दो चौके लगाये जिससे इंग्लैंड को अपनी रणनीति पर सोचना पड़ा।

इसके बाद आदिल राशिद (नौ रन देकर एक विकेट) को गेंद सौंपी गयी और इस टेस्ट में दूसरी बार वह अपनी गुगली पर इशांत को पगबाधा आउट करने में सफल रहे।

नौ विकेट निकल चुके थे लेकिन पंड्या आखिर तक हार नहीं मानने के मूड में दिख रहे थे लेकिन स्टोक्स की गेंद उनके बल्ले को चूमकर पहले स्लिप में चली गयी। स्टोक्स का अदालती मामले के कारण दूसरे टेस्ट में खेलना संदिग्ध है।

इंग्लैंड ने मैच के पहले दिन जो रूट के 80 रन की मदद से पहली पारी में 287 रन बनाये। कोहली ने इसके बाद अपना 22वां टेस्ट शतक बनाया जिससे भारत सात विकेट पर 169 रन से उबरकर 274 रन बनाने में सफल रहा। इशांत के पांच विकेट की मदद से भारत ने इंग्लैंड को दूसरी पारी में 180 रन पर समेट दिया और इस तरह से भारत को 194 रन का लक्ष्य मिला।