सत्संग श्रवण करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है : स्वामीजी

उज्जैन। गुरु पूर्णिमा महोत्सव के तत्वावधान में श्रीमद् भागवत कथा श्रवण कराते हुए कथा व्यास महामंडलेश्वर स्वामी श्री शांति स्वरूपानंद गिरि जी ने कहा कि भागवत कथा एवं सत्संग के माध्यम से ही मोक्ष की प्राप्ति होती है।

मनुष्य जीवन ही ईश्वर साधना के लिए प्राप्त हुआ है। ईश्वर आराधना एवं साधना से प्रारब्ध के कुकर्म से भी मुक्ति मिलती है। वही सत्संग का प्रभाव हमारे जीवन पर भी दिखाई देना चाहिए।

भागवत जी की आरती राकेश अग्रवाल, अशोक प्रजापत कथा के मुख्य यजमान श्री कुंजबिहारी लाल शर्मा आदि ने की। कथा श्रवण के लिए बड़ी संख्या में भक्तगण उज्जैन व अन्य जिलों से भी चारधाम मंदिर में आए हुए हैं। उक्त जानकारी मीडिया प्रवक्ता राजेश करे ने दी। कथा के पूर्व चार धाम मंदिर के कोषाध्यक्ष अशोक प्रजापत द्वारा चारधाम मंदिर से संबंधित गतिविधियों की जानकारी भक्तों को दी गई।