राहुल गांधी द्वारा लोकसभा में प्रधानमंत्री को गले लगाने पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने नाखुशी जाहिर की

नयी दिल्ली, अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गले लगाने पर नाखुशी जाहिर करते हुए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि संसद में सभी को संसदीय मर्यादा का ख्याल रखना चाहिए ।

सुमित्रा महाजन ने कहा कि उन्हें राहुल गांधी द्वारा किसी को गले लगाने को लेकर कोई एतराज नहीं है लेकिन सभी को संसदीय मर्यादा का ख्याल रखना चाहिए ।

राहुल गांधी द्वारा अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के समय प्रधानमंत्री के गले लगने की घटना के संदर्भ में स्पीकर ने कहा, ‘‘ मुझे देखकर अच्छा नहीं लगा । वह प्रधानमंत्री हैं, प्रधानमंत्री पद पर हैं । वह इस समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं ।’’ उन्होंने कहा कि संसदीय मर्यादा का सभी को ध्यान रखना चाहिए, आप सभी को उसका पालन करना चाहिए । सदन की गरिमा हमें ही रखनी है, इसके लिये कोई बाहर से नहीं आयेगा । संसद सदस्य के रूप में हमें इसका पालन करना चाहिए ।

सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘‘ वह :राहुल: कोई मेरे दुश्मन नहीं है। मेरे बेटे जैसे ही लगते हैं ।’’ उन्होंने कहा कि वह भी एक मां हैं और वह चीजों को समझती है। उस समय उन्हें लगा कि यह क्या नाटक है ।

उल्लेखनीय है कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में अपने भाषण को समाप्त करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास जाकर उन्हें गले लगा लिया । प्रधानमंत्री ने बाद में उन्हें रोककर हाथ मिलाया और उनसे कुछ कहा।

इससे पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी चुटकी लेते हुए कहा कि सदन के अंदर ‘चिपको आंदोलन’ शुरू हो गया ।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने आज लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलने पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल को समझना चाहिए कि वह संसद में बोल रहे हैं, न कि किसी फिल्म में अभिनय कर रहे हैं।

मशहूर हिंदी फिल्म ‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’ की तरफ इशारा करते हुए हरसिमरत ने कहा, ‘‘यह मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं बल्कि संसद है।’’