मौत के बाद भी आभासी दु​निया में जीवित रहे भय्यू महाराज

इंदौर,  सोशल मीडिया के बाशिंदे आज च​कित रह गये, जब हाई प्रोफाइल आध्यात्मिक संत भय्यू महाराज की कथित खुदकुशी के बाद भी उनके फेसबुक पेज पर नयी पोस्ट होती रही।

भय्यू महाराज के संचालित संगठन सूर्योदय परिवार के जनसम्पर्क विभाग के एक अधिकारी ने इसके पीछे की हकीकत का खुलासा करते हुए “पीटीआई-भाषा” को बताया कि आध्यात्मिक संत के सोशल मीडिया खातों पर उनकी एक खास टीम अलग-अलग पोस्ट डालती थी।

अधिकारी ने कहा, “भय्यू महाराज की सोशल मीडिया पर पूरी निगाह रहती थी। लेकिन जहां तक उनकी पोस्ट का सवाल है, वे इनके लिये अपनी सोशल मीडिया टीम को जरूरी निर्देश देते थे। इसके बाद यह टीम इन पोस्ट को तैयार कर इन्हें सोशल मीडिया पर साझा करती थी।”

बॉम्बे हॉस्पिटल के एक अधिकारी ने बताया कि भय्यू महाराज को लहूलुहान हालत में आज दोपहर दो बजे के आसपास अस्पताल लाया गया। वह सीधे आईसीयू में ले जाये गये, जहां जरूरी जांचों के बाद दोपहर 02:15 बजे के आस-पास उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

भय्यू महाराज को मृत घोषित किये जाने के करीब तीन घंटे बाद उनके फेसबुक पेज पर शाम पांच बजकर 10 मिनट पर एक पोस्ट की गयी। इसमें जल संरक्षण के क्षेत्र में उनके संगठन के कार्यों का ब्योरा दिया गया।

उनके फेसबुक पेज पर आज सुबह 11 बजकर 16 मिनट पर जल संरक्षण के ही विषय में एक अन्य पोस्ट की गयी।

भय्यू महाराज के फेसबुक पेज पर आज सुबह 11 बजकर 10 मिनट पर केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को उनके जन्मदिन पर आध्यात्मिक गुरू की ओर से बधाई दी गयी। इससे पहले भी आज उनके फेसबुक पेज पर अलग-अलग विषयों को लेकर कई पोस्ट की गयीं।

भय्यू महाराज ने भारी मानसिक तनाव के कारण यहां अपने बंगले में कथित तौर पर गोली मार कर आत्महत्या कर ली।

Leave a Reply