चीन ने कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण की अपील की

बीजिंग , चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच हुई शिखर वार्ता की प्रशंसा करते हुए इसे ऐतिहासिक करार दिया और कोरियाई प्रायद्वीप को लेकर चल रहे तनाव को सुलझाने के लिए इसके “ पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण ’’ की अपील की।

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने संवाददाताओं से कहा कि इस बात के बहुत जरूरी और सकारात्मक मायने हैं कि दोनों नेता साथ बैठकर वार्ता कर सकने की स्थिति में हैं और यह तथ्य एक नया इतिहास रच रहा है।

वांग ने कहा , “ कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु मुद्दे की अहम बात यह है कि यह सुरक्षा से जुड़ा एक मुद्दा है। इस सुरक्षा मुद्दे की सबसे महत्त्वपूर्ण और मुश्किल बात अमेरिका और उत्तर कोरिया के साथ बैठने और बातचीत के समान स्तर के जरिए एक हल निकालना है। ”

उन्होंने कहा , “ परमाणु मुद्दे को नि : संदेह परमाणु निरस्त्रीकरण से सुलझाया जा सकता है , पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण से। साथ ही उत्तर कोरिया की तर्कसंगत सुरक्षा चिंताओं को सुलझाने के लिए प्रायद्वीप के लिए एक शांति प्रक्रिया की भी जरूरत है। ”

वांग ने बताया कि उत्तर कोरिया का एकमात्र बड़ा सहयोगी और मुख्य व्यापार साझेदार चीन ही है लेकिन हमने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों को लेकर अमेरिका द्वारा लगाए गए कुछ प्रतिबंधों का समर्थन भी किया है।

तनाव के बावजूद शीत युद्ध युग के इन सहयोगियों ने हाल ही में अपने रिश्तों में सुधार किया और किम सिंगापुर में हुई ऐतिहासिक शिखर वार्ता में शामिल होने एअर चाइना के ही एक विमान से गए थे।