हर समय चरित्र को नहीं जी सकता : जिम्मी शेरगिल

नयी दिल्ली ,  बॉलीवुड अभिनेता जिम्मी शेरगिल ने कहा है कि वह हर समय चरित्र को नहीं जी सकते हैं और जैसे ही शूटिंग से ब्रेक मिलता है , वह चरित्र से बाहर आ जाते हैं।

उन्होंने कहा कि उनके 20 साल के करियर में यही रहा है कि जब वह शूटिंग पर होते हैं तो चरित्र में होते हैं और जैसे ही ब्रेक मिलता है , वह चरित्र से बाहर आ जाते हैं।

शेरगिल ने पीटीआई से कहा , ‘‘ मैं खुद को नियम वाला अभिनेता नहीं कहूंगा। नियम वाला अभिनय एक गहरी अवधारणा है। आपको लगातार उसी चरित्र में रहना होता है। फिल्म की शूटिंग पूरी होने तक आपको उसी (चरित्र) की तरह चलना होता है , उसी की तरह बात करनी होती है तथा उसी की तरह व्यवहार करना होता है। ’’

उन्होंने कहा , ‘‘ मैं अपने चरित्रों को हर समय नहीं जी सकता। यह मेरी सीख नहीं रही है। जब ब्रेक हो , आप कॉस्ट्यूम में न हों … तो आप चरित्र से बाहर हैं। लेकिन जब शूटिंग चालू हो आप अपना काम गंभीरता और ईमानदारी से करें। ’’

शेरगिल की हालिया फिल्म ‘ फेमस ’ है जो मध्य प्रदेश के चम्बल इलाके में फिल्माई गई है। यह एक जून को रिलीज हुई थी। वह ‘‘ साहिब , बीवी और गैंगस्टर 3’’ तथा ‘‘ हैप्पी फिर भाग जाएगी ’’ में भी दिखेंगे।