नवजातों के लिए एंबुलेंस सेवा प्रारंभ करेगी गुजरात सरकार

अहमदाबाद , स्वास्थ्य केंद्रों में आपातकालीन चिकित्सीय सेवाओं की कमी के कारण नवजातों को मौत के मुंह में जाने से बचाने के लिए गुजरात सरकार ने उनके लिए समर्पित एंबुलेंस सेवा शुरू करने का फैसला किया है ताकि गंभीर रूप से बीमार और दुधमुंहे बच्चों को बेहतर सुविधाओं वाले अस्पताल में ले जाया जा सके।

वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि ‘ अंत : अस्पताल स्थानांतरण के लिए नियोनेटल एंबुलेंस सेवा परियोजना ’ के तहत सरकार राज्यभर में विशेष सुविधाओं से लैस 10 एंबुलेंस का संचालन करेगी।

राज्य की स्वास्थ्य आयुक्त जयंती रवि ने बताया कि जामनगर सिविल अस्पताल में एक वर्ष तक पायलट परियोजना चलाई गई , जो सफल रही। जिसके बाद यह फैसला किया गया।

उन्होंने बताया कि एक वर्ष पहले जामनगर सिविल अस्पताल के अधीक्षक इस तरह की समर्पित सेवा प्रारंभ करने का विचार लाए थे।

कई मामलों में नवजातों को बेहतर इलाज के लिए जामनगर से अहमदाबाद सिविल अस्पताल लाना होता था लेकिन इसमें पांच घंटे का वक्त लगता था। ऐसे में कई बार नवजात दम तोड़ देते थे।

जयंती ने बताया कि पिछले वर्ष पायलट परियोजना शुरू की गई जिसकी मदद से 43 नवजातों को बचाया जा सका। अब हमने पूरे राज्य में इस तरह की सेवा प्रारंभ करने का फैसला किया है।