केकेआर की जीत में चमके कार्तिक और नारायण

इंदौर,  कोलकाता नाइटराइडर्स ने सलामी बल्लेबाज सुनील नारायण के बाद कप्तान दिनेश कार्तिक की अंत में खेली गयी तेज तर्रार अर्धशतकीय पारी की बदौलत आज यहां ट्वेंटी20 मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें चरण का सबसे बड़ा स्कोर खड़ाकर 31 रन की जीत से खुद को क्वालीफायर की दौड़ में बरकरार रखा।

पिछले मैच में मुंबई इंडियंस के हाथों 102 रन से हारने वाली केकेआर इस जीत से 12 मैचों में छह जीत और इतनी ही हार से 12 अंक जुटाकर चौथे नंबर पर पहुंच गयी जबकि किंग्स इलेवन पंजाब 11 मुकाबलों में छह जीत और पांच हार से 12 अंक लेकर तीसरे नंबर पर कायम है।

नारायण की 36 गेंद में नौ चौके और चार छक्के जड़ित 75 रन और कार्तिक की 50 रन (22 गेंद में पांच चौके और तीन छक्के) से केकेआर ने छह विकेट पर 245 रन का पहाड़ सा स्कोर खड़ा किया। यह आईपीएल का चौथा सर्वोच्च स्कोर है। केकेआर ने आईपीएल के पहले चरण में ब्रैंडन मैकुलम की 158 रन की शतकीय पारी से 222 रन से अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया था लेकिन आज इसे पीछे छोड़ते हुए अपना सबसे बड़ा स्कोर खड़ा किया।

लेकिन किंग्स इलेवन पंजाब की टीम सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल की अर्धशतकीय पारी के बावजूद निर्धारित 20 ओवर में 214 रन पर आठ विकेट गंवाकर 31 रन से हार गयी।

‘ओरेंज कैप’ धारी राहुल ने उम्मीदों के अनुरूप अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए 29 गेंद में दो चौके और सात छक्के से 66 रन की पारी खेली। इससे उन्होंने आईपीएल में सर्वाधिक रन 537 रन बना लिये।

लेकिन क्रिस गेल (21) दूसरे छोर पर इस लय में उनका साथ नहीं निभा सके और छठे ओवर में हमवतन आंद्रे रसेल (चार ओवर में 41 रन देकर तीन विकेट) की बाउंसर पर आउट हो गये।

रसेल ने अगली ही गेंद पर मयंक अग्रवाल (शून्य) को आउट किया, जिनकी खराब फार्म जारी रही। करूण नायर भी छह गेंद खेलने के बाद रसेल का तीसरा शिकार बने।

राहुल की तेजी से रन जुटाने की कोशिश नौंवे ओवर में खत्म हो गयी जब वह नारायण की खूबसूरत गेंद को स्वीप करने के प्रयास में बोल्ड हो गये।

आरोन फिंच (34 रन) और अक्षर पटेल क्रीज पर थे और रन गति धीमी हो रही थी। कुलदीप यादव ने अपने पहले ओवर में पटेल का विकेट झटका, लेकिन 14 रन गंवा दिये।

जोवान सीयरलेस ने फिंच के रूप में अपना पहला आईपीएल विकेट हासिल किया। कप्तान आर अश्विन (45 रन, 22 गेंद में चार चौके और तीन छक्के) और एंड्रयू टाई (14) ने अंतिम ओवर में आउट होने से पहले सातवें ओवर के लिये 53 रन जोड़े। दोनों के विकेट प्रसिद्ध कृष्णा ने लिये।

इससे पहले पंजाब ने टास जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया, उसके लिये टाई ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 41 रन देकर चार विकेट हासिल किये। टाई इस तरह आईपीएल में लगातार मैचों में चार विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज बन गये, उनसे पहले शदाब जकाती (2009) और मुनाफ पटेल (2012) यह कारनामा कर चुके हैं। इस समय 20 विकेट लेकर टाई ‘पर्पल कैप’धारी हैं।

सलामी बल्लेबाज क्रिस लिन (27) और नारायण ने केकेआर के लिये अच्छी शुरूआत करते हुए पहले विकेट के लिये 5.2 ओवर में 53 रन की भागीदारी की। पर तेज गेंदबाज टाई ने लिन को बोल्ड कर टीम को पहली सफलता दिलायी।

नारायण ने तेजी से खेलना जारी रखा और 26 गेंद में पचासा पूरा किया, जिसमें छह चौके और दो छक्के जड़े थे।

दूसरे छोर उनके साथ रोबिन उथप्पा (24) थे, उन्होंने भी नारायण से प्रेरित होकर कुछ अच्छे शाट लगाये। 11वें ओवर में नारायण ने बरिंदर सरन पर दो छक्के और एक चौका लगाकर 17 रन जुटाये।

लेकिन अगले ओवर में दोनों के बीच दूसरे विकेट की 75 रन की भागीदारी का अंत तब हुआ जब टाई ने शार्ट गेंद पर नारायण को विकेटकीपर लोकेश राहुल के हाथों कैच आउट कराया। फिर इस गेंदबाज ने धीमी गेंद पर उथप्पा को भी पवेलियन पहुंचाया जिनका बेहतरीन कैच मोहित शर्मा ( 40 रन देकर एक विकेट) ने लिया। टीम इस ओवर में दो विकेट गंवा बैठी।

कार्तिक और आंद्रे रसेल (31 रन, 14 गेंद में दो चौके और तीन छक्के) ने भी बीच बीच में शाट जमाते हुए तेज रन गति बरकरार रखी। रनों के लिहाज से केकेआर के लिये 15वां और 16वां ओवर काफी अच्छा रहा, जिसमें क्रमश: 19 और 21 रन बने। 16वें ओवर में कार्तिक ने दो छक्के और एक चौका जबकि रसेल ने एक चौका जमाया, जिससे इन दोनों के बीच चौथे विकेट के लिये अर्धशतकीय साझेदारी भी पूरी हुई।

अगले ओवर में टाई को फिर एक सफलता रसेल के रूप में प्राप्त हुई जो गेंद पर बल्ला छुआकर विकेटकीपर को कैच दे बैठे। इस तरह चौथे विकेट के लिये महज 31 गेंद में 76 रन की शानदार साझेदारी का अंत हुआ जो टीम की सर्वश्रेष्ठ भागीदारी रही। नीतीश राणा 11 रन बनाकर चलते बने।

कार्तिक ने 19वें ओवर में इस आईपीएल में अपना पहला पचासा लगाया और आईपीएल में अपना सबसे तेज अर्धशतक भी बनाया।

अंतिम ओवर में सरन ने कार्तिक की तेज तर्रार पारी का अंत किया। अंतिम गेंद पर वेस्टइंडीज जावोन सीयरलेस (नाबाद छह रन) ने पदार्पण मैच की अपनी पहली ही गेंद पर छक्का जड़कर टीम के स्कोर में इजाफा किया जबकि शुभमान सिंह 16 रन बनाकर नाबाद रहे।

Leave a Reply