अभिनय से मिलने वाले पैसे दूसरी रचनात्मक चीजों में देते हैं योगदान: अंजली पाटिल

नयी दिल्ली , ‘ न्यूटन ’ और ‘ चक्रव्यूह ’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकी अंजली पाटिल कहना है कि अभिनय से अच्छे पैसे मिलते हैं और उनसे अपने अंदर के कलाकार को दूसरी रचनात्मक चीजों में लगाने में मदद मिलती है।

कई भाषाएं बोलती और समझती हैं और वह सिंहली भाषा में डबिंग कर चुकी हैं । रजनीकांत की फिल्म ‘ काला ’ में अपने किरदार के लिए तमिल में डबिंग कर चुकी अंजली इस समय स्पैनिश भाषा सीख रही हैं।

उन्होंने पीटीआई को दिए एक साक्षात्कार में कहा , ‘‘ अभिनय से मुझे अपने बिल का भुगतान करने में मदद मिलती है , पैसे मिलते हैं ताकि मैं अपने अंदर के कलाकार का दूसरी चीजों मसलन – पढ़ने , संगीत सुनने या कविता लिखने के लिए विकास कर सकूं। मुझमें कभी भी किसी खास मुकाम पर पहुंचने की बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षा नहीं रही है। ’’

‘ न्यूटन ’ में मल्को का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री ने कहा कि वह फिल्म जगत की प्रतिस्पर्धा में यकीन नहीं रखती।

उन्होंने कहा , ‘‘ मैं खुश हूं क्योंकि मेरी अलग महत्वाकांक्षाएं और जीवन को लेकर योजनाएं हैं। मेरी जीवन जीने की सोच अलग है और खुशकिस्मती से उसमें मेरे शीर्ष पर होने की महत्वाकांक्षा शामिल नहीं है। ’’

अंजली की नयी फिल्म ‘ मेरी निम्मो ’ हाल में ‘ इरोज नाऊ ’ के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई।

‘ मेरी निम्मो ’ आठ साल के एक लड़के की कहानी है जिसे निम्मो नाम की एक युवती ( अंजलि ) से प्यार से हो जाता है जिसे वह बचपन से जानता है।

उन्होंने फिल्म को लेकर कहा , ‘‘ यह एक खास फिल्म है। यह भावनाओं से जुड़ी है और दिखाती है कि एक बच्चे के मन में क्या चल रहा होता है जब वह निम्मो की मंगनी होते देखता है। वह खुद को कैसे संभालता है , जब उसे महसूस होता है कि दोनों के संबंध प्यार से कहीं ज्यादा बड़े हैं। ’’