“20 लाख क्लब” में शामिल हुआ इंदौर हवाई अड्डा

इंदौर, मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर का देवी अहिल्याबाई विमानपत्तन देश के उन चुनिंदा हवाई अड्डों की जमात में शामिल हो गया है, जहां हर साल 20 लाख से ज्यादा यात्रियों की आवा-जाही दर्ज की जाती है।

विमानपत्तन की निदेशक आर्यमा सान्याल ने आज “पीटीआई-भाषा” को बताया कि 31 मार्च को खत्म वित्तीय वर्ष 2017-18 में स्थानीय हवाई अड्डे से सफर करने वाले लोगों की तादाद करीब 33 प्रतिशत बढ़कर 23.66 लाख यात्रियों के स्तर पर पहुंच गयी। वित्तीय वर्ष 2016-17 में यह यात्री तादाद 17.82 लाख थी।

उन्होंने कहा, “हवाई सम्पर्क और यात्री सुविधाओं में इजाफे के कारण स्थानीय विमानपत्तन पर मुसाफिरों की आवा-जाही लगातार बढ़ रही है। हमें उम्मीद है कि मौजूदा वित्तीय वर्ष में यह तादाद 25 लाख के स्तर को आसानी से पार कर जायेगी।” सान्याल ने बताया कि फिलहाल स्थानीय हवाई अड्डे पर हर रोज 68 नियमित यात्री उड़ानों की आवा-जाही होती है। दिसंबर तक इन उड़ानों की संख्या बढ़कर 80 पर पहुंचने का अनुमान है।

उन्होंने यह भी बताया कि निकट भविष्य में उड़ानों की तादाद में इजाफे की संभावना के चलते भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने स्थानीय हवाई अड्डे के लिये “ऑटोमेटिक डिपेन्डेन्ट सर्विलांस रडार” स्वीकृत किया है। इस अत्याधुनिक निगरानी तंत्र के शुरू होने से हवाई अड्डे पर उड़ानों के संचालन में सुविधा होगी।

बुनियादी ढांचे में पिछले महीने वृद्धि किये जाने के बाद स्थानीय हवाई अड्डे पर अब 24 घंटे विमानों की आवा-जाही हो सकती है।