उज्जैन में आम आदमी पार्टी के नवीन ज़ोनल कार्यालय का उद्घाटन कर किया पोहा चौपाल का आयोजन

उज्जैन  । आम आदमी पार्टी उज्जैन के नवीन ज़ोनल कार्यालय (15/1, एल.पी. भार्गव नगर, पुष्पा मिशन के पास ) का उद्घाटन प्रदेश संयोजक श्री आलोक अग्रवाल ने किया, इसके बाद नवीन कार्यालय में पत्रकारों से मुलाक़ात कर बताया प्रदेश की भाजपा सरकार बीते 14 सालों में लूट और भ्रष्टाचार को शासन रहा है जनता अब उससे त्रस्त हो चुकी है और बदलाव चाहती है। बदलाव के लिए जनता कांग्रेस को भी उम्मीद की नजरों से नहीं देख रही है क्योंकि भाजपा से पहले कांग्रेस ने भी दशकों तक प्रदेश की जनता को अंधेरे में रखा और लूट संस्कृति को बढ़ावा दिया। ऐसे हालात में आम आदमी पार्टी एकमात्र विकल्प है और आगामी विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी सभी 230 सीटों पर अपने ईमानदार, कर्मठ और बदलाव के इच्छुक लोगों को मौका देकर आम आदमी की सरकार बनाने का काम करेगी।

श्री अग्रवाल ने प्रदेश के हालात पर शिवराज सरकार को घेरते हुए कहा कि प्रदेश में किसान बर्बाद है, भावान्तर योजना फेल हो चुकी है और हर रोज 5 किसान आत्महत्या कर रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री को कृषि कर्मण नहीं, कृषि मरण पुरस्कार से नवाजा जाना चाहिए था। उन्होंने शिक्षा के हालात पर कहा कि मध्य प्रदेश में पहले ही करीब 25 हजार स्कूल बंद कर दिए गए हैं और अब फिर 46 हजार स्कूलों को बंद करने की तैयारी है। उधर प्रदेश में उत्तीर्ण छात्रों का प्रतिशत महज 48 है, यानी आधे से ज्यादा छात्र फेल हो रहे हैं। बिजली 7 से 8 रुपए प्रति यूनिट मिल रही है, जो पूरे देश में सबसे ज्यादा महंगी है। पूरे प्रदेश में पानी के लिए जनता त्राहि त्राहि कर रही है। मध्य प्रदेश के 40 लाख से ज्यादा परिवारों को पीने का पानी एक किलोमीटर दूर से लाना पड़ता है। कानून व्यवस्था का मखौल बनाकर रख दिया है। शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल के सदस्य रामपाल सिंह की बहु ने आत्महत्या की है, लेकिन आज एक महीने बाद भी इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। प्रदेश में हर रोज 14 बलात्कार होते हैं। 70 प्रतिशत बच्चों में खून की कमी है और 45 प्रतिशत बच्चे कुपोषण से ग्रस्त हैं। यही नहीं 92 बच्चे कुपोषण से रोज मर रहे हैं। ये सभी आंकड़े प्रदेश सरकार के ही हैं और सीएजी की रिपोर्ट में सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में हालात बिगड़ चुके हैं। ऐसे में जनता के पास इस निकम्मी सरकार को उखाड़ फेंकने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी इससे पहले हालात को सुधारने की दिशा में कोई काम नहीं किया। इसलिए आम आदमी पार्टी एक मजबूत विकल्प के तौर पर सामने आ रही है।