सात्विक-चिराग ने बैडमिंटन युगल में रजत जीतकर इतिहास रचा

गोल्ड कोस्ट, सात्विक रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में आज यहां रजत पदक से संतोष करना पड़ा लेकिन वे इन खेलों में भारत को पुरूष युगल का पहला पदक दिलाकर इतिहास रचने में सफल रहे।

सात्विक और चिराग की जोड़ी पुरूष युगल फाइनल में इंग्लैंड की रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता जोड़ी मार्कस एलिस और क्रिस लैंगरिज से 13-21, 16-21 से हार गयी।

सात्विक और चिराग के रजत पदक जीतने से भारत ने बैडमिंटन में अपने सफल अभियान का अंत भी किया। भारत ने इस दौरान छह पदक जीते जिसमें मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण भी शामिल है।

इससे पहले साइना नेहवाल ने महिला एकल में पी वी सिंधू को हराकर स्वर्ण पदक जीता था जबकि किदाम्बी श्रीकांत ने पुरूष एकल का रजत पदक जीता। कल अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी ने महिला युगल में कांस्य पदक हासिल किया था।