शहर के लोगों के लिये ‘जनतंत्र सदन’ 8 अप्रैल से

उज्जैन। अपने शहर के अपनेपन की नजरों से देखे। यही से शुरूआत हुई एक नये नजरिये की शहर के कई लोगों को सुनने बात करने के बाद से बात सामने आई उज्जैन के लोग उज्जैन से प्यार करते है और उनकी अपनी कई परिणाम है कि जनतंत्र सदन आरंभ हो रहा है। आज पत्रकारवार्ता में चेतन प्रेमनारायण यादव ने बताया कि रविवार 8 अप्रैल शाम 6 बजे से टाॅवर चौक  पर अंबेडकर प्रतिमा के समीप किया जाएगा। विधानसभा व लोकसभा की तर्ज पर सदनलगाया जा रहा है। हम पहली बार सार्वजनिक रूप से जानेंगे कि विधानसभा व लोकसभा में कैसे कार्यवाही होती है विशेष बात यह है कि इस सदन में जनतंत्र के नायक जो कि आम जनता है वह हिस्सा लेगी। श्री यादव ने बताया कि यह अवसर है जनतंत्र को सरल प्रभावशाली व समस्या के साथ समाधान के निर्माण प्रस्तावों को बनाने को जो शहर के नागरिकों की उपस्थित के बना संभव नहीं। मुख्य वक्ता के रूप में पीयूष मिश्रा थिएटर अभिनेता, फिल्म अभिनेता, गायक, लेखक, गीतकार एवं कम्पोजर को जन नायक की भूमिका मे आमंत्रित किया गया है जो अपने शब्दों, कविताओं व गीतों से सदन को संबोधित करेंगे।

श्री यादव ने बताया कि सदन का आरंभ शाम 6.30 बजे आरंभ होगा जिसमें सर्वप्रथम माननीय अध्यक्ष जी का प्रवेश, अध्यक्ष पेनल आसंदी पर विराजमान होगे इसके उपरांत सदन की कार्यवाही आरंभ होगी। शाम 7 बजे कारम को पूर्ण व अपूर्ण घोषित करके गणपूर्ति के अनुसार अध्यक्ष जी के विवेकानुसार सदन की कार्यवाही पुनः प्रारंभ की जायेगी, इसके बाद राष्ट्रीयगीत ‘‘वन्दे मातरम्’’ का सामूहिक गान किया जायेगा। इसके बाद अध्यक्षीय संबोधन, जय उज्जैन अभिभाषण, अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन प्रस्ताव, महत्व, लाभ एवं विगत चरणों का उल्लेख करने के बाद सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित की जायेगी। सदन की कार्यवाही पुनः समवेत करने के उपरांत शहीद हुए जवानों व नेताओं के जीवन पर प्रकाश व श्रद्धांजलि देने के बाद दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की जायेगी। इसके उपरांत शाम 7.30 जय उज्जैन कार्य का एजेण्डा उज्जैनवासियों के समक्ष रखा जायेगा, इसके बाद प्रस्तावों का उल्लेख, सदन के नायकों का उल्लेख क्षेत्रों का वर्णन करने उपरांत प्रश्नोत्तर काल की शुरूआत की जायेगी जिसमें तारांकित प्रश्नकाल का आरंभ होगा। इसके बाद जनता से प्रश्नों को एकत्रित कर उन पर बहस की जायेगी। प्रत्येक प्रश्न के लिए दस मिनट का समय निर्धारित किया गया है।