जीएसटी के कारण पर्यटकों के आगमन पर कोई कुप्रभाव नहीं

नयी दिल्ली,  केन्द्र सरकार ने आज कहा कि जीएसटी लागू होने के कारण पर्यटकों के आगमन पर कोई ‘‘कुप्रभाव’’ नहीं पड़ा है।

पर्यटन मंत्री के जे अल्फोंस ने आज राज्यसभा को बताया कि भारत में विदेशी पर्यटकों का आगमन जुलाई 2016 से फरवरी 2017 तक 65.75 लाख था, जो जुलाई 2017 से फरवरी 2018 में 74.11 लाख हो गया। इस प्रकार में इसमें 12.71 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी।

उन्होंने सरोजिनी हेम्ब्रम के प्रश्न के लिखित जवाब में बताया कि भारत में विदेशी मुद्रा आय जुलाई 2016 से फरवरी 2017 के दौरान 1.13 लाख करोड़ रूपये रही जो जुलाई 2017 से फरवरी 2018 में बढ़कर 1.28 लाख करोड़ रूपये हो गयी। इसमें 13.32 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी।

मंत्री ने कहा, ‘‘इस प्रकार पर्यटन क्षेत्र में पर्यटकों के आगमन में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का कोई कुप्रभाव नहीं देखा गया।

उन्होंने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में बताया कि वर्ष 2016 में विश्व के अंतरराष्ट्रीय पर्यटन आगमन में भारत के विदेशी पर्यटक आगमन का हिस्सा 0.7 प्रतिशत था।

इस वर्ष विश्व के अंतरराष्ट्रीय पर्यटक आगमनों में भारत का अंतरराष्ट्रीय पर्यटन आगमन (जिनमें विदेशी पर्यटक आगमन तथा अनिवासी नागरिकों का आगमन शामिल है) का हिस्सा 1.18 प्रतिशत है।

उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य विश्व के अंतरराष्ट्रीय पर्यटक आगमन में भारत के विदेशी पर्यटक आगमन के हिस्से को वर्ष 2020 तक एक प्रतिशत और 2025 तक दो प्रतिशत बढ़ाना है।