व्हाइट हाउस ने ट्रंप के आतंक रोधी प्रयासों की तारीफ की

वाशिंगटन, व्हाइट हाउसका कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आईएसआईएस को मात देने और दुनिया में आतंकवाद का मुकाबला करने मेंमहत्वपूर्ण सफलता हासिल की है।

राष्ट्रपति कार्यालय का कहना है कि पाकिस्तान की सुरक्षा सहायतारोक कर ट्रंप ने यह अमेरिकी सहयोगियों के समक्ष उदाहरण पेश किया है कि आप आतंकवाद का सहयोग करते हुए हमारे मित्र नहीं रह सकते हैं।

व्हाइट हाउस ने कल जारी एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप ने आईएसआईएस को हराने और दुनियाभर में आतंकवाद का मुकाबला करने के अपने वादे को पूरा करने में जबर्दस्त कामयाबी पाई है।

व्हाइट हाउस ने कहा कि आतंकी समूह आईएसआईएस अपना लगभग पूरा खिलाफत खो चुका है जबकि आईएसआईएस सेमुक्त कराये गये क्षेत्र का 50 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सा ट्रंप प्रशासन के तहत आजाद हुआ है।

बयान में कहा गया है कि ट्रंप आईएसआईएस को तबाह करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और वैश्विक गठबंधन इन आतंकवादियों कोखोज-खोज कर मारेगा।

व्हाइट हाउस ने कहा कि पाकिस्तान की सुरक्षा सहायता रोककर ट्रंप ने अमेरिका से विदेशी मदद प्राप्त करने वालों को यह संदेश दिया है कि अमेरिका उनसे अपेक्षा करता है कि वे अतंकवाद का मुकाबला करने मेंउसका पूरी तरह साथदेंगे।

बयान के अनुसार, सऊदी अरब के रियाद में राष्ट्रपति ट्रंप ने मुस्लिम बहुल50 देशों के प्रतिनिधियों से मुलाकातकर उन्हें आतंकवाद और चरमपंथी विचारधारा का मुकाबला करने के लिए और अधिक प्रयास करने को कहा।

रेखांकित करते हुए कि ट्रंप ने खतरों को अमेरिका से दूर रखने के लिए ‘‘मजबूत और आवश्यक कदम उठाए हैं, व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्होंने उत्तर कोरिया के खिलाफ अधिकतम अंतरराष्ट्रीय दबाव की नीति का पालन किया है जिसने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उनको उकसावे की कार्रवाई नहीं करने और परमाणु नि:शस्त्रीकरण का वादा करने पर मजबूर कर दिया है।