केन्द्र और उप्र सरकारों के खिलाफ जनादेश है उपचुनाव के परिणाम: अखिलेश

लखनऊ,  समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के नतीजों को केन्द्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकारों के खिलाफ जनादेश करार देते हुए इसके लिये बसपा और राष्ट्रीय लोकदल समेत तमाम सहयोगी दलों को धन्यवाद दिया।

अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से कहा कि वह सबसे पहले बसपा नेता मायावती का बहुत-बहुत धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने देश की महत्वपूर्ण लड़ाई में सपा का सहयोग और समर्थन किया। साथ ही राष्ट्रीय लोकदल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, निषाद पार्टी, पीस पार्टी और वामदलों का भी धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि उपचुनाव परिणाम केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ ‘जनादेश‘ है। गोरखपुर मुख्यमंत्री योगी का क्षेत्र हैं, जबकि फूलपुर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का क्षेत्र है। अगर उन क्षेत्रों की जनता में इतनी नाराजगी है तो सोचिये आने वाले समय में देश के चुनाव में क्या होगा। उत्तर प्रदेश से जो बात निकलती है, वह पूरे देश में जाती है।

सपा प्रमुख ने दावा किया कि अगर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के बजाय मतपत्रों से मतदान होता तो भाजपा लाखों वोट से हारती।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने देश और प्रदेश की जनता के साथ राष्ट्रवाद और विकास के नाम पर धोखा किया है, जिसका जनता ने जवाब दिया है। मुख्यमंत्री योगी ने विधानसभा सदन में बार-बार संविधान की धज्जियां उड़ायी हैं।

अखिलेश ने दावा किया कि उन्होंने हम समाजवादियों और बसपा नेता को सांप और छछूंदर तथा चोर-चोर मौसेरे भाई जैसे शब्दों से नवाजा। खुद उन्हें औरगंजेब तक कह दिया।

अखिलेश ने कहा कि उन्हें खुशी है कि गरीबों, नौजवानों खासकर दलित भाइयों ने जो संदेश दिया है, यह सामाजिक न्याय की भी जीत है।

आगामी लोकसभा चुनाव में बसपा से गठबंधन के सवाल पर सपा अध्यक्ष ने कोई साफ जवाब नहीं दिया और कहा फिलहाल यह जो जीत है, जितने दलों ने सहयोग किया। उनको धन्यवाद देता हूं।