दुर्लभ पौधों के साथ फिर खुलेगा लंदन का भव्य ग्लास हाउस

लंदन,  नए रूप एवं दुनिया भर के दुर्लभ पौधों के साथ विश्व का सबसे बड़ा ‘विक्टोरियन ग्लासहाउस’ एक बार फिर लोगों के लिए खुलने जा रहा है।

लंदन के प्रमुख केव गार्डन में स्थित ‘टेम्पेरेट हाउस’ में तीन जंबो जेट विमान खड़े हो सकते हैं। वर्ष 2013 में मरम्मत के लिए बंद होने से पहले यहां विश्वभर के पौधों की करीब 1,000 प्रजातियां मौजूद थीं।

योजना के प्रबंधक एंड्रू विलियमस ने ‘एएफपी’ से कहा, ‘‘ पहले हर जगह जंग लगा हुआ था, सारा रंग खराब हो रहा था। अब देखिए, सब कुछ एकदम नया है।’’

लोहे और ग्लास के इस ढांचे का निर्माण विक्टोरियन वास्तुकार डेसिमस बर्टन ने वर्ष 1860 में किया था और यह 1863 में खुला था।

इसको नया रूप देने के लिए करीब 69,000 अलग अलग हिस्सों को साफ करने, उनकी मरम्मत करने या बदलने की जरूरत थी। शीशे के 15000 पैनों की भी मरम्मत करनी पड़ी।

विलियमस ने कहा, ‘‘ऐसी इमारत इसकी हकदार है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि अब आप ऐसी इमारत बना सकते हैं।’’