जिला न्यायाधीश एवं कलेक्टर ने नेशनल लोक अदालत का शुभारम्भ किया

उज्जैन। शनिवार को जिला मुख्यालय और उज्जैन जिले की समस्त पांचों तहसीलों में नेशनल लोक अदालत का शुभारम्भ किया गया। न्यायालय भवन में प्रात: 10.30 बजे जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री बीके श्रीवास्तव और कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे द्वारा महात्मा गांधी और मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन और माल्यार्पण कर नेशनल लोक अदालत का विधिवत शुभारम्भ किया गया। इस दौरान न्यायाधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री संकर्षण प्रसाद पाण्डेय, संयोजक श्री गजेन्द्रसिंह, मण्डल अभिभाषक संघ उज्जैन के अध्यक्ष श्री प्रमोद चौबे, श्री राजेश जोशी और सभी सम्बन्धित अधिकारी तथा कुटुम्ब न्यायालय और अन्य न्यायालयों के अभिभाषक मौजूद थे।
अतिथियों द्वारा शुभारम्भ के पश्चात न्यायालय में लगने वाली विभिन्न खण्डपीठों का अवलोकन किया गया। उल्लेखनीय है कि जिले एवं तहसील न्यायालयों की 38 खण्डपीठों के माध्यम से अधिक से अधिक समझौता-योग्य प्रकरणों का निराकरण करवाने की व्यवस्था लोक अदालत में की गई। न्यायालय द्वारा धारा 138 एनआईए एक्ट के अन्तर्गत 701 प्रकरण, मोटर दुर्घटना दावा के 301 प्रकरण, सिविल सूट के 321 प्रकरण, घरेलु हिंसा के 17, आपराधिक 959 प्रकरण, पारिवारिक विवाद के 30, बैंक वसूली के 700 और विद्युत बिल बकाया एवं विद्युत चोरी के 2500 इस प्रकार कुल 4829 प्रकरणों का निराकरण लोक अदालत में करवाया गया। इसके अलावा नेशनल लोक अदालत में नगर निगम द्वारा सम्पत्ति कर के 15 काउंटर और जल कर के नौ काउंटर खोले गये। इस बार 13 काउंटरों की अलग से व्यवस्था की गई, ताकि करदाता सुचारू रूप से कर जमा करा सकें।