देवास बैंक नोट छापाखाने में रिजर्व बैंक का कोई अधिकारी तैनात नहीं: आरबीआई

मुंबई, मध्य प्रदेश के देवास स्थित बैंक नोट प्रेस (बीएनपी) में एक अधिकारी को नोट चुराने के आरोप में गिरफ्तार किए जाने की घटना के बीच रिजर्व बैंक ने कहा है कि देवास बीएनपी न तो उसकी इकाई है और न ही उसने वहां अपना कोई अधिकारी तैनात नहीं किया है।

आरबीआई ने आज एक बयान में कहा कि मीडिया के एक हलके में खबर है कि केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने देवास में आरबीआई की नोट मुद्रण इकाई से नोट चुराने के आरोप में एक आरबीआई अधिकारी को गिरफ्तार किया है।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि बीएनपी देवास, भारतीय प्रतिभूति मुद्रण एवं मुद्रण निर्माण निगम लिमिटेड की इकाई है, वह रिजर्व बैंक के अधीन नहीं है। इसके अलावा, आरबीआई ने बीएनपी देवास में किसी भी अधिकारी को तैनात नहीं किया है।

इसमें कहा गया है कि रिपोर्ट तथ्यों पर आधारित नहीं है। आरबीआई ने अफसोस जताया कि समाचार प्रकाशित करने से पहले तथ्यों का सत्यापन नहीं किया गया।

रिपोर्टों के मुताबिक, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने नई करेंसी नोटों को चुराने के आरोप में बीएनपी के देवास इकाई से एक वरिष्ठ अधिकारी को पकड़ा था। उसके पास से 90 लाख रुपये के मुद्रा बरामद की गई थी।