क्वेस्ट प्रोग्राम के जरिए बालमन को पढना समझाया टीचर्स को..

उज्जैन। स्कूलों में पढ़नेवाले खासकर 13 से 17 की उम्र के ऐसे बच्चें जो उम्र के इस पड़ाव में अच्छी व बुरी संगतों में पढ़कर कई व्यवहारिक बदलाव झेलते है उनकी मनस्थिति समझने व उनके  व्यवहार नियंत्रण के लिए लायंस  क्लब इंटरनेशनल द्वारा शहर के तीस शिक्षक शिक्षिकाओं को चयनित कर विश्व के 80 देशों में आजमाएं गए  क्वेस्ट इंटरनेशनल प्रोग्राम का 3 दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का समापन शनिवार को हुआ। अब प्रशिक्षित शिक्षकों के जरिए शहर के कई स्कूलों में यह प्रोग्राम बच्चों को नया आत्मविश्वास पैदा करेगा।
लायंस क्लब उज्जैन मेलविन् की चार्टर अध्यक्ष फातेमा जागीरदार ने बताया कि तीन दिवसीय यह प्रशिक्षण कार्यक्रम अक्षत इंटरनेशनल स्कूल परिसर में उन्ही के सहयोग से किया गया था। क्वेस्ट इंटरनेशनल प्रोग्राम दरअसल हावर्ड यूनिवर्सिटी का डिझाईन किया हुआ प्रोग्राम हैजिसकी फ्रेन्चायजी लायन इंटरनेशनल ने ले ली थी। देश भर में मात्र 9 ही ऐसी फेक्लटीज ट्रेंड की गई है जो सबकों प्रशिक्षण दे रहे है। तीन दिवसीय प्रशिक्षण में सरकारी व निजी विद्यालयों के  30 शिक्षकों को मुंबई से आई प्रीति जवेरी ले प्रशिक्षण दिया। फातेमा जागीरदार के अनुसार बालमन क ो समझने व उन्हे सही राह बताने वाले इस कार्यक्रम का लाभ स्कूली बच्चों को आगामी शिक्षण सत्र से मिलना शुरू हो जाएगा। प्रशिक्षण लेने वाले टीचर्स अब स्कूलों में जा जाकर बच्चो को विशेष क्लास लेकर समझाईश देंगे। इस कार्यक्रम में बच्चों के अभिभावकों को भी सम्मिलित किया गया था। कार्यक्रम में समापन अवसर पर वाईस डिस्ट्रिक्ट गर्वनर लायन इंजीनियर आरजी पाठक, लायन बलबीर साहनी, लायन राघव नागर व लायन आयुषी सोनी आदि उपस्थित थे।