कश्मीर में हिंसा के क्रम को तोड़ने की जरूरत: महबूबा

श्रीनगर,  जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोपोर में हुए आईईडी विस्फोट की निंदा करते हुए आज लोगों से राज्य में ‘‘जारी हिंसा की कड़ी’’ को तोड़ने के लिए कंधे से कंधा मिलाने की अपील की। हमले में चार पुलिसकर्मी मारे गए।

महबूबा ने यहां कहा कि कस्बे में लोगों की सुरक्षा के लिए काम पर तैनात पुलिसकर्मी मारे गए। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘राज्य में हिंसा की कड़ी को तोड़ने की जरूरत है और उसके लिए समाज के हर वर्ग को कंधे से कंधा मिलाकर काम करना होगा।’’ उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘सोपोर में आईईडी विस्फोट में चार पुलिसकर्मियों के मारे जाने से दुखी हूं। उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी तरफ से गहरी संवेदनाएं व्यक्त करती हूं।’’ उत्तरी कश्मीर के सोपोर कस्बे में आतंकियों द्वारा लगाए गए एक आईईडी में हुए विस्फोट में चार पुलिसकर्मी उस वक्त शहीद हो गए जब वे वहां गश्त कर रहे थे।

एक अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने बारामुला जिले के सोपोर में छोटा बाजार और बड़ा बाजार के बीच एक गली में एक दुकान के पास आईईडी लगाया था और पुलिसकर्मियों के वहां पहुंचने के साथ ही उसमें विस्फोट कर दिया।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘सोपोर से आयी खबर से बहुत दुखी हूं। ईश्वर तैनाती के दौरान शहीद हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के चार बहादुर कर्मियों की आत्मा को शांति दे।’’ जम्मू-कश्मीर कांग्रेस अध्यक्ष जी ए मीर ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इससे कश्मीर में हालात सामान्य होने के महबूबा सरकार के बड़े-बड़े दावों का पर्दाफाश हो गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य सरकार सच्चाई छिपाने में लगी है।

Leave a Reply