हिप्नोसिस एण्ड सेल्फ हिप्नोसिस का दो दिवसीय नि:शुल्क सेमिनार उज्जैन में

उज्जैन। हिप्नोसिस इंटरनेशनल बोर्ड ऑफ रजिस्ट्रेशन के सदस्य हिप्नोसिस विशेषज्ञ डॉ. साजन गलानि उज्जैन में दो दिवसीय नि:शुल्क सेमिनार होटल हिल्टन टॉवर माधव क्लब रोड पर सायं ६ से ८ बजे तक आयोजित कर रहे हैं। हिप्नोसिस एण्ड सेल्फ हिप्नोसिस के माध्यम से नशा मुक्ति, मानसिक रोग से मुक्ति पाई जा सकती है। जाग्रत रूप में हम सब कुछ पाना चाहते हैं, लेकिन अर्द्ध जाग्रत रूप से हम नाकामयाबी के विषय में सोचते हैं। हिप्नोसिस एक ही ऐसा रास्ता है जिसके द्वारा अर्द्ध जाग्रत मन की प्रोग्रामिंग करके अपने जीवन में सफलता और खुशहाली प्राप्त करने का सरल माध्यम है। हिप्नोटिक अवस्था में दी गई सूचना (सजेशन) जाग्रत अवस्था में दी गई सूचना से १०० गुना अधिक प्रभावशाली होती है। कोई भी व्यक्ति सेल्फ हिप्नोसिस के उपयोग द्वारा पॉजीटिव परिणाम प्राप्त कर सकता है जो कि जल्द ही नजर के समक्ष आने लगते हैं। एक ऐसा ही प्रभाव जो कि लगभग सभी व्यक्तियों में पाया जाता है वह है शांति का अनुभव और दुनिया के प्रति एकरूपता की भावना। इस विधा के माध्यम से व्यक्ति अपनी स्मरण शक्ति, एकाग्रता, ध्यान शक्ति व आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा सकता है। मन की शक्तियों का विकास करना और डर और जो पसंद ना हो उससे छुटकारा पाने में मदद करता है। हिप्नोटिक एनेस्थेसिया द्वारा दर्द का अहसास खत्म किया जा सकता है। यह कोर्स करने के बाद लोगों में काफी बदलाव पाए गए हैं। जिंदगी और उसकी चुनौतियों को देखने के नजरिए में भी बदलाव आए हैं और लोगों के जीवन में सकारात्मकता आई है। हिप्नोसिस में कुशलता प्राप्त करने के लिए प्रेक्टिकल प्रशिक्षण की आवश्यकता है।