मप्र सरकार का राष्ट्रीय तानसेन सम्मान इस वर्ष पंडित उल्लास कशालकर को

भोपाल, मध्यप्रदेश सरकार का हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में दिया जाने वाला राष्ट्रीय तानसेन सम्मान इस वर्ष शास्त्रीय संगीत के प्रतिष्ठित गायक पंडित उल्लास कशालकर को प्रदान किया जायेगा।

आधिकारिक तौर पर आज यहां दी गयी जानकारी के अनुसार हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में इस सम्मान के अंतर्गत दो लाख रुपये की राशि, सम्मान पट्टिका, शॉल-श्रीफल प्रदान किया जाता है। पंडित उल्हास कशालकर को 22 दिसम्बर को ग्वालियर में प्रतिष्ठित तानसेन संगीत समारोह में इस सम्मान से विभूषित किया जायेगा। पंडित उल्हास कशालकर को सम्मान से विभूषित करने का निर्णय हाल में चयन समिति की बैठक में सर्वसम्मति से लिया गया। समिति में शास्त्रीय गायक पंडित सत्यजीत देशपाण्डे, पखावज वादक पंडित डालचन्द शर्मा, गिटार वादिका डॉ. कमला शंकर, संगीत समीक्षक मंजरी सिन्हा एवं रवीन्द्र मिश्र शामिल थे। पंडित कशालकर वर्तमान में पुणे में निवास करते हैं। वे घरानेदार संगीत परम्परा के निष्णात गायक हैं। उनका जन्म संगीत को समर्पित घराने में हुआ। उनके पिता पंडित एन.डी. कशालकर जाने-माने संगीतज्ञ थे एवं वकालत उनका पेशा था। उनके ही सान्निध्य में उल्हास कशालकर ने संगीत का संस्कार पाया। इन्हें पंडित राजाभाऊ कोगजे एवं प्रोफेसर प्रभाकर राव खर्डनवडीस का मार्गदर्शन भी मिला। पंडित उल्हास कशालकर ने संगीत के क्षेत्र में अपनी अथक साधना एवं सर्जनात्मक परिश्रम से बड़ी ऊँचाई अर्जित की है। देश-विदेश में इनके गायन की उत्कृष्ट सभाएँ हुई हैं। इनकी सुदीर्घ शिष्य परम्परा है।

पंडित कशालकर पद्मश्री, संगीत नाटक अकादमी सम्मान, बसवराज राजगुरु पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुके हैं।

Leave a Reply