ब्रिटेन आईएस का साथ दे रहे नागरिकों को ‘खत्म’ करेगा

लंदन,  नए रक्षा मंत्री गेविन विलियम्सन के हवाले से ‘डेली मेल’ ने आज खबर दी है कि इस्लामिक स्टेट के लिए लड़ रहे ब्रिटिश नागरिकों को खोजना चाहिए, उन्हें मार डालना चाहिए और देश में वापस आने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

विलियम्सन ने टैब्लॉयड से कहा ‘‘एक मृत आतंकवादी ब्रिटेन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उस खतरे को समाप्त करने और नष्ट करने के लिए हमें वह सब करना चाहिए जो हम कर सकते हैं।’’ एक अनुमान के मुताबिक, 800 ब्रिटिश पासपोर्टधारक इराक और सीरिया में लड़ने के लिए गये थे। इसमें से 130 मारे गये और करीब 400 वापस लौट रहे हैं । अभी भी 270 लोग पश्चिम एशिया में है।

यह मामला वर्ष 2014 में उस समय प्रकाश में आया जब ‘जिहादी जॉन’ कहलाने वाला ब्रिटिश नागरिक मोहम्मद इमवाजी आईएस के दुष्प्रचार वीडियो में बंधकों का सिर काटते हुए नजर आया।

कदाचार के आरोप में पिछले माह माइकल फैलन ने रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद विलियम्सन रक्षा मंत्री बनाए गए हैं। उन्होंने दृढ़ता से कहा कि जो लड़ाके दूसरे देशों में भाग रहे हैं उनका भी पता लगाया जाएगा। उन्होंने इन लोगों को ब्रिटेन वापस लौटने देने से इंकार कर दिया।

उन्होंने ‘मेल’ से कहा ‘‘हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि वे बिखर रहे हैं और अन्य जगहों पर फैल रहे हैं। हम लगातार उनकी तलाश कर रहे हैं।’’ विलियम्सन ने कहा ‘‘यह सुनिश्चित करें कि उनके लिए कोई सुरक्षित जगह न हो ताकि वह अन्य देशों में जा कर नफरत न फैला सकें।’’ ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे की हत्या की साजिश रचने के आरोप में लंदन की अदालत में दो लोगों को पेश करने के कुछ घंटों के बाद मंत्री का यह साक्षात्कार सामने आया है।

Leave a Reply