गंगा सफाई के लिए कंपनियों, उद्योगपतियों ने 1,500 करोड़ खर्च करने की प्रतिबद्धता जताई: गडकरी

मुंबई, केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि गंगा को साफ सुथरा और स्वच्छ बनाने तथा घाटों का कायाकल्प करने के लिए घरेलू कंपनियों के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय कंपनियों तथा उद्योगपतियों ने 1,500 करोड़ रुपये खर्च करने की प्रतिबद्धता जताई है।

गंगा को साफ सुथरा और स्वच्छ बनाने के कार्य को आगे बढ़ाने के लिए शहर में मौजूद गडकरी ने इस मामले पर चर्चा के लिए 150 से अधिक उद्योगपतियों, मुख्य कार्यकारी अधिकारियों और प्रबंध निदेशकों को आमंत्रित किया था।

गडकरी ने संवाददाताओं से कहा, “मैंने पिछले हफ्ते गंगा कायाकल्प परियोजना को बढ़ावा देने के लिए लंदन में रोडशो किया था। हमें गंगा सफाई के लिए विभिन्न संस्थानों और ब्रिटेन के व्यापारिक समुदाय से 1,000 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता प्राप्त हुई है। इसी के साथ घरेलू उद्योग ने गंगा सफाई के लिए 500 करोड़ रुपये देने की प्रतिबद्धता जताई है।” उन्होंने कहा कि पटना, कानपुर, हरिद्वार और कोलकाता में नदी के किनारों के उत्थान और घाटों के विकास का जिम्मा ब्रिटेन के प्रमुख उद्योगपतियों ने उठाया है। इसके साथ ही उन लोगों की चेन्नई, बेंगलुरु और कोलकाता समेत प्रमुख शहरों का दौरा करने की योजना भी है।

गडकरी ने कहा कि केंद्र का अनुमान है कि इस पूरी परियोजना में 20,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे। अब तक, करीब 97 परियोजनाओं की घोषणा हुई है, जिसमें से करीब 55 परियोजनाओं पर काम शुरू किया गया है।

Leave a Reply